गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। अस्पताल में लगी लिफ्ट अब बिजली सप्लाई ठप होने पर बंद नहीं होगी। मंगलवार काे लिफ्ट लगाने वाली कंपनी ने ऐसे प्रबंध किए हैं कि बिजली सप्लाई बंद होने के बाद लिफ्ट भूतल वाले गेट पर पहुंचकर खुल जाएगी।

सोमवार को बिजली सप्लाई बंद होने के बाद बीस मिनट के करीब मरीज लिफ्ट में बंद रहा था। बताया जा रहा है कि लिफ्ट में बैटरी बैकअप होता है और बिजली सप्लाई बंद होने के बाद लिफ्ट भूतल गेट पर खुलनी चाहिए थी लेकिन सोमवार को बिजली सप्लाई बंद होने के बाद लिफ्ट बंद हो गई थी।

कार्यवाहक प्रधान चिकित्सा अधिकारी डा. अल्का सिंह का कहना है कि मंगलवार को लिफ्ट लगाने वाली कंपनी के कर्मचारियों को बुलाया गया था। लिफ्ट में बैटरी बैकअप की सुविधा है। वह बिजली सप्लाई बंद होने के बाद बंद नहीं होनी चाहिए थी। वहीं लिफ्ट आपरेटर की ड्यूटी होती है। वह ड्यूटी पर थे या नहीं इसका संज्ञान लिया जाएगा।

दरअसल अस्पताल में बड़ा जेनरेटर एक साल से खराब है और जिला स्वास्थ्य विभाग अधिकारियों का कहना है कि जेनरेटर को ठीक कराने के लिए उच्च अधिकारियों से अनुमति मांगी गई है। बड़ी हैरानी की बात है कि उच्च अधिकारी एक जेनरेटर ठीक कराने के पत्र पर संज्ञान नहीं ले पा रहे हैं।

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट