गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। न्यायाधीश कृष्णकांत की पत्नी व बेटे की हत्या मामले में शनिवार को अंतिम गवाही होगी। अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुधीर परमार की अदालत में मामले के जांच अधिकारी अपने बयान दर्ज कराएंगे। गवाही पूरी होने के बाद दोनों पक्ष की ओर से बहस शुरू हो जाएगी। बहस पूरी होते ही मामले में कभी भी फैसला आ सकता है।

सरकारी अधिवक्ता व उप जिला न्यायवादी अनुराग हुड्डा ने बताया कि मामले में गवाही जल्द पूरी हो, इसे ध्यान में रखकर शुरू से ही प्रयास किए गए। हर बार चार से पांच गवाहों के बयान दर्ज किए गए। सात दिसंबर को गवाही पूरी होने के बाद आगे की कार्यवाही काफी तेज हो जाएगी। बहस भी जल्द से जल्द पूरी कराने का प्रयास होगा ताकि फैसला भी जल्द आ जाए। यदि दिसंबर के दौरान ही बहस पूरी हो जाती है फिर जनवरी में फैसला आ सकता है।

बता दें कि गत वर्ष 13 अक्टूबर को जिले के तत्कालीन अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश रहे कृष्णकांत की पत्नी रितु एवं उनके बड़े बेटे ध्रुव सेक्टर-49 स्थित आर्केडिया शॉपिंग कॉम्प्लेक्स में मार्केटिग करने पहुंचे थे। कॉम्प्लेक्स से बाहर निकलते ही गनमैन (अब बर्खास्त) महिपाल ने दोनों को गोली मार दी थी। मेदांता अस्पताल में इलाज के दौरान दोनों की मौत हो गई थी।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों को पढ़ने के लिए यहां करें क्‍लिक

Posted By: Mangal Yadav

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस