जागरण संवाददाता, गुरुग्राम : पिछले कई दिनों से रह-रह कर हो रही बरसात ने किसानों के चेहरे पर मुस्कान बढ़ा दी है लेकिन जिला स्वास्थ्य विभाग के लिए ¨चता खड़ी कर दी है। स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टरों का कहना है कि बरसात के बाद अब शहर में डेंगू- मलेरिया व बुखार का खतरा बढ़ा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग ने अस्पताल में आने वाले मरीजों को डेंगू व मलेरिया के प्रति जागरूक करने का काम तेज कर दिया है। हर ओपीडी में मरीजों को डेंगू के प्रति जागरूक किया जा रहा है। डॉक्टरों का कहना है कि पिछले वर्ष की तरह सितंबर व अक्टूबर में दोनो बीमारी के मरीज ज्यादा रहेंगे। जिस तरह से बरसात अब हो रही है उससे मरीजों की संख्या में इजाफा होगा। अगर सावधानी बरती गई तो बीमारियों से बचा जा सकेगा। 13 डेंगू के मामले मिल चुके हैं। सिविल सर्जन डॉ. गुलशन अरोड़ा ने कहा कि अगर अभी ध्यान नहीं दिया, तो मच्छर पैदा होने का खतरा रहेगा। इसके लिए आस पास ध्यान देना होगा कि साफ पानी भरा न रहने दिया जाए। ---------- डेंगू के बचाव :::::::: . घर के अंदर और आस पास पानी जमा नहीं होने दें। .किसी भी बर्तन में लंबे समय तक पानी ना रखें। .पानी वाले बर्तन को ढक कर रखें। .कूलर का पानी हर रोज बदलें। . रात को सोते समय कपड़े पहनकर सोये। . आफिस में भी पूरी बाजू की शर्ट पहनकर जाए। . डेंगू मच्छर सुबह - शाम काटता है उसी समय ध्यान रखें। -- डेंगू के लक्षण ::::: . तेज ठंड लगकर बुखार आना . सिर और आंखों में दर्द . शरीर, जोड़ों में दर्द . भूख कम लगना .जी मचलाना, उल्टी, दस्त लगना . शरीर पर लाल धब्बे आना .गंभीर स्थिति में आंख, नाक से खून आना