गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। साइबर सिटी में सुबह से बादलों और सूरज के बीच आंख मिचौली का खेल चल रहा है। कभी धूप निकल रही है तो कभी बादलों की वजह से छांव हो रही है। मौसम विभाग के अनुसार, बृहस्पतिवार को जिले में बूंदाबांदी हो सकती है। 

इससे पहले बुधवार को दिनभर आंशिक रूप से बादल छाए रहने के बाद शाम को साढ़े छह बजे शहर में कई जगहों पर बूंदाबांदी हुई, जिससे मौसम सुहाना हो गया। मौसम विभाग के मुताबिक अधिकतम तापमान 36.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, न्यूनतम तापमान 26.9 डिग्री सेल्सियस रहा। बृहस्पतिवार को क्षेत्र में बूंदाबांदी होने का अनुमान है।

बता दें कि बारिश से इन दिनों लोगों को गर्मी से निजात मिली है। मंगलवार देर रात बारिश होने से एमजी रोड क्षेत्र में कई सड़कों पर जलभराव हुआ। सिकंदरपुर मेट्रो स्टेशन, ब्रिस्टल चौक व साउथ सिटी चौक पर जलभराव होने से दूसरे दिन सुबह लोगों को आवागमन में परेशानी हुई।

 

मानेसर के पास गिर रहा भूजल स्तर

वहीं, मानेसर क्षेत्र में लगातार गिरते भूजलस्तर के कारण क्षेत्र के लोग काफी चिंतित हैं और उन्होंने जिला प्रशासन से इस समस्या का समाधान करने की मांग की है। औद्योगिक क्षेत्र मानेसर के नजदीक कासन रोड पर तो भूजल स्तर करीब 500 फुट नीचे जा चुका है। यहां किए गए बोर भी फेल हो चुके हैं। इसके अलावा गांव मानेसर में भी 350 फुट पर पानी है। यहां रोक के बाद भी लगातार नए बोर किए जा रहे हैं। क्षेत्र में पहाड़ी इलाका होने के बाद भी भूजलस्तर लगातार नीचे जा रहा है। इसका मुख्य कारण क्षेत्र में वर्षा जल संचयन की व्यवस्था न होना है।

क्षेत्र में पिछले काफी समय से भूजलस्तर लगातार नीचे जा रहा है। भूजल दोहन भी हो रहा है। इस समस्या से निपटने के लिए स्थानीय लोगों द्वारा विधायक सत्यप्रकाश जरावता से भी कहा जा चुका है। क्षेत्र में नहरी पानी पहुंचाने की भी मांग की जा रही है क्योंकि ऐसे ही जलस्तर गिरता रहा तो कुछ समय बाद जमीन से पानी पूरी तरह खत्म हो जाएगा। इससे बचने के लिए अधिक से अधिक पौधारोपण करने और उनके रखरखाव के साथ वर्षा जल संचयन की जरूरत है।

Edited By: Mangal Yadav