गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। दिल्ली से सटे गुरुग्राम में पिछले दो दिनों से गर्मी से राहत मिलने का सिलसिला जारी है। साइबर सिटी में बुधवार को आकाश में बादल छाए हुए हैं और मौसम सुहावना है। मौसम विभाग के मुताबिक आज क्षेत्र में तेज हवा के साथ कहीं-कहीं बूंदाबांदी होने का अनुमान है।

इससे पहले बूंदाबांदी होने व हवा चलने से मंगलवार को गर्मी से थोड़ी राहत मिली। दोपहर लगभग डेढ़ बजे शहर में कई जगहों पर बूंदाबांदी हुई। हालांकि आसमान काले घने बादलों से घिरा रहा, लेकिन शाम तक तेज बारिश नहीं हुई। उधर, पटौदी में तीन एमएम बारिश होने से मौसम सुहाना हो गया।

मौसम विभाग के मुताबिक अधिकतम तापमान 34.8 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। तापमान में गिरावट से लोगों को उमस भरी गर्मी से थोड़ी राहत मिली है। हालांकि लोग तेज बारिस की उम्मीद कर रहे हैं। 

जलभराव रोकने को 24 घंटे अलर्ट रहेंगे 39 जेई-एसडीओ

हर साल तेज बारिश से शहर में जलजमाव हो जाता है। इससे बचने के लिए मानसून की शुरुआत के साथ ही सरकारी महकमे भी अलर्ट हो गए हैं। शहर में बाढ़ व जलभराव के हालात से निपटने के लिए गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी (जीएमडीए) व नगर निगम के एसडीओ और जेई की ड्यूटी लगाई गई है। 39 एसडीओ व जेई तीन शिफ्टों में 24 घंटे तैनात रहेंगे। अगर दिन में या रात में बारिश होती है तो जलभराव के लिहाज से संवेदनशील इलाकों पर नजर रखेंगे। पंप आदि मशीनरी चालू करवाकर जलभराव की स्थिति से निपटा जाएगा। हालांकि हर साल मानसून सीजन में कर्मचारियों की ड्यूटी लगती है, लेकिन पहली बार 24 घंटे की ड्यूटी लगाई गई है।

18 जुलाई तक लगाई ड्यूटी

बारिश के मौसम को देखते हुए 39 जेई और एसडीओ की फिलहाल 24 घंटे तैनाती 18 जुलाई तक की गई है। सुबह 7 बजे से दोपहर तीन बजे, तीन बजे से रात को 11 बजे, रात 11 बजे से सुबह सात बजे तक की तीन शिफ्ट बनाई गई हैं। जीएमडीए के एक्सईएन प्रवीण कुमार को जीएमडीए, एनएचएआइ, ट्रैफिक पुलिस और नगर निगम के बाढ़ नियंत्रण केंद्र का प्रभार सौंपा गया है।

Edited By: Mangal Yadav