मानेसर, जागरण टीम: मानेसर नगर निगम का दायरा जल्द बढ़ने वाला है। इसके लिए अधिकारियों की कमेटी ने सीमाओं को तय कर प्रस्ताव सरकार के पास भेज दिया है। सरकार की तरफ से मंजूरी मिलते ही सेक्टर 76, 83, 84 और 88 नगर निगम मानेसर का हिस्सा बन जाएंगे। इससे इन सेक्टरों में रहने वाले हजारों लोगों को फायदा मिलेगा।

इस बारे में स्थानीय लोगों ने कई बार मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मांग की थी। इस पर मुख्यमंत्री ने जिला उपायुक्त और अन्य अधिकारियों को इस बारे में बैठक कर सीमाओं को निर्धारित करने के निर्देश दिए थे। अधिकारियों की कमेटी ने दोनों निगमों की सीमाओं का बंटवारा कर दिया है। नए बंटवारे के तहत मानेसर नगर निगम के दायरे को दो मुख्य सड़कों के बीच कर दिया है।

पूर्वी क्षेत्र में द्वारका एक्सप्रेस-वे और पटौदी रोड के बीच का भाग नगर निगम मानेसर के दायरे में रहेगा। एक सोसायटी दो भागों में थी बंटी हुई नगर निगम मानेसर के गठन के समय इसकी सीमाओं का निर्धारण किया गया तो उसमें सेक्टर 83 की एक सोसायटी दो निगमों के बीच बंट गई थी।

मेप्सको कासाबेला, वाटिका फ्लोर्स, यूनिवर्सल ओरा, ट्यूलिप सोसायटी और वाटिका जे ब्लाक का कुछ भाग मानेसर नगर निगम में आता था और कुछ भाग गुरुग्राम नगर निगम में आता था। अब ये सोसायटियां मानेसर नगर निगम के दायरे में शामिल होंगी। इससे इन सोसायटियों में रहने वाले लोगों को कार्य के लिए गुरुग्राम नगर निगम नहीं जाना पड़ेगा।

इन सेक्टरों को मानेसर नगर निगम में शामिल करने के लिए 13 फरवरी 2021 को मानेसर पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल के सामने गुरुग्राम सरपंच एसोसिएशन के अध्यक्ष सुंदरलाल ने मांग उठाई थी। नए गुरुग्राम को मानेसर नगर निगम में शामिल किया जाने से हमारी सोसायटी में रहने वाले लोगों को काफी फायदा हो जाएगा।

गुरुग्राम नगर निगम जाने के लिए लोगों को काफी दूर जाना पड़ता है। अमरेश मिश्रा, अध्यक्ष, आरडब्ल्यूए, लाइफ स्टाइल सोसायटी सेक्टर 83 नया गुरुग्राम बेहतर प्लानिंग के साथ विकसित किया जा रहा है। यहां सब चीजें व्यवस्थित तरीके से हैं। कुछ समस्याएं हैं जिन्हें दूर करने के लिए नगर निगम मानेसर बेहतर तरीके से कार्य करेगा। नितिन कक्कड़, अध्यक्ष, आरडब्ल्यूए गुड़गांव वन सोसायटी, सेक्टर 84 लोगों को अभी तक यही समझ नहीं आ रहा था कि शिकायत देने के लिए गुरुग्राम नगर निगम के पास जाएं या मानेसर निगम में। एक ही सोसायटी के कुछ टावरों को एक में तथा कुछ को दूसरे निगम में शामिल किया गया था।

ओमबीर सिंह, अध्यक्ष, आरडब्ल्यूए, वाटिका के ब्लाक, सेक्टर 83 नए गुरुग्राम के लोगों के लिए यह एक बेहतर निर्णय लिया गया है। अब यहां के निवासी अपनी समस्याओं को लेकर नगर निगम मानेसर के कार्यालय जा सकेंगे। अभी तक लोग दुविधा में फंसे हुए रहते थे। पूर्ण सिंह, अध्यक्ष, आरडब्ल्यूए, कोरलवुड सोसायटी, सेक्टर 84 नगर निगम मानेसर को एक बेहतर तरीके से विकसित शहर बनाया गया है।

इसको बेहतर तरीके से ही रखने की जिम्मेदारी अब निगम के अधिकारियों की होगी। नए गुरुग्राम के लोगों की तरफ से पूरा सहयोग किया जाएगा। सुभाष यादव, अध्यक्ष, आरडब्ल्यूए सिटी होम्स सोसायटी, सेक्टर 83 लोगों की मांग पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने अधिकारियों की कमेटी बनाई थी। कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सरकार के पास भेज दी है। जल्द ही इसे मंजूर कर लोगों को सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इससे नए गुरुग्राम के लोगों को काफी फायदा होगा। सत्यप्रकाश जरावता, विधायक, पटौदी

Edited By: MOHAMMAD AQIB KHAN

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट