गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। साइबर क्राइम की टीम ने सोहना रोड स्थित स्थित स्पेज आइटी पार्क में अनसदिवी इंफोटेक के नाम से संचालित फर्जी कॉल सेंटर का मंगलवार को पर्दाफाश किया है। मौके से ही कंपनी के निदेशक सहित 14 कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है। सेंटर से दो लैपटॉप, 10 मोबाइल फोन एवं 1.50 लाख रुपये बरामद किए गए। पहले मोलेक्यू इंफोटेक ओपीसी प्राइवेट लिमिटेड के नाम से भी ठगी की गई। दोनों कंपनियों के खाते एक निजी बैंक में हैं। दोनों खाते सीज करा दिए गए हैं। आरोपितों को बुधवार दोपहर अदालत में पेश किया गया। निदेशक आमिर तुफेल एवं वेबसाइट डिजाइनर पंकज कुमार को एक दिन की रिमांड पर लिया गया है। अन्य को जमानत दे दी गई।

इसी साल 15 जुलाई को अशोक विहार फेज-तीन निवासी राहुल कौशिक ने साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में दी शिकायत में बताया था कि उनके पास एक कॉल सेंटर से फोन आया था। कॉल करने वाली युवती ने नौकरी लगवाने की बात की थी। पैसे ले लिए लेकिन नौकरी नहीं मिली।

शिकायत के बाद से साइबर क्राइम की एक टीम आरोपितों की पीछे लगी हुई थी। मंगलवार को साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन प्रभारी विवेक कुंडू को सूचना मिली कि सोहना रोड स्पेज आई पार्क में एक कॉल सेंटर चल रहा है, जिसके माध्यम से नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी की जा रही है। इसके बाद टीम बनाकर छापेमारी की गई।

फरवरी से की जा रही थी धोखाधड़ी

पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि पहले उन लोगों का कार्यालय सोहना रोड स्थित स्पेज टावर बी-2 में था। वहां पर वेबसाइट बनाकर काम कर रहे थे। एक जॉब कंपनी से डाटा लेकर लोगों के पास फोन करते थे। बायोडाटा बेहतर तरीके से बनाने व अच्छी नौकरी दिलवाने के नाम पर पेमेंट गेटवे के माध्यम से पैसे वसूलते थे। वेबसाइट को उनलोगों ने इसी साल फरवरी से लेकर अक्टूबर तक चलाया था।

जब उस वेबसाइट को लेकर रिफंड के लिए फोन आने लगे फिर उस वेबसाइट को एवं मोबाइल नंबर को बंद कर दिया था। इसके बाद लगभग 15 दिन पहले इस कार्यालय को छोड़कर सोहना रोड स्थित स्पेज आईटी पार्क के बी-2 टावर में किराये पर कार्यालय लेकर काम शुरू किया। अधिक कमाई करने के लिए उनलोगों ने दो नई वेबसाइट बनाई। अब इनके माध्यम से नौकरी दिलाने के नाम पैसे वसूल रहे थे।

साइबर क्राइम की टीम ने बहुत ही सराहनीय प्रयास किया है। मामले से जुड़े अन्य लोगों की भी पहचान की जा रही है। सभी को गिरफ्तार किया जाएगा। पता किया जा रहा है कि कितने लोगों के साथ ठगी की गई। इसके अलावा भी जहां कहीं भी कॉल सेंटर चल रहे हैं, उनके बारे में जानकारी हासिल की जा रही है।

- शशांक कुमार सावन, पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय), गुरुग्राम

मौके से इन लोगों को गिरफ्तार किया गया

- आमिर तुफेल, निवासी गोयान कस्बा उरकाजी, जिला मुजफ्फरनगर, उत्तर प्रदेश

- मोहित ङ्क्षसह, निवासी गांव देविदुरा, जिला अल्मोड़ा, उत्तराखंड

- दिनेश शर्मा, निवासी सेक्टर 28, जिला फरीदाबाद, हरियाणा

- लिल्लू, निवासी गांव फिदेड़ी, जिला रेवाड़ी, हरियाणा

- अमित कुमार, निवासी आया नगर, दिल्ली

- पंकज कुमार, निवासी गांव ओरावरी, जिला कानपुर, उत्तर प्रदेश

- अर्चना श्रीनिवास, निवासी गांव इमेलिया, जिला महोबा, उत्तर प्रदेश

- शिनु, निवासी गांव लाधुक, जिला फाजिल्का, पंजाब

- वंदना, निवासी गांव गाबालड़ा, जिला पानीपत, हरियाणा

- चंचल कुशवाह, निवासी शकूरपुर जेजे कॉलोनी, दिल्ली

- हेमा विश्वकर्मा, निवासी कारीगोही रघुराज नगर, जिला सतना, मध्यप्रदेश

- प्रिया, निवासी निहाल कॉलोनी गांव चौमा, जिला गुरुग्राम, हरियाणा

- प्रीति, निवासी सेक्टर-23ए गांव गांव कार्टरपुरी, जिला गुरुग्राम, हरियाणा

- अंजली सिंह, निवासी गांव नसीरपुर, दिल्ली

Posted By: Prateek Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस