गुरुग्राम, जेएनएन। डीएलएफ फेज-एक में ई-ब्लाॅक निवासी इंदिरा खन्ना (72) की हत्या मामले के मुख्य आरोपित को स्थानीय थाना पुलिस ने पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया। उसकी पहचान पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के गांव बैनीनाथपुर निवासी 26 वर्षीय दूध कुमार के रूप में की गई। उसे बृहस्पतिवार दोपहर अदालत में पेश कर पूछताछ के लिए तीन दिन की रिमांड पर लिया गया है।

इससे पहले एक अन्य आरोपित गौतम दास को पिछले सप्ताह पश्चिम बंगाल के नादिया जिले के गांव करालिया से गिरफ्तार किया गया। इसी महीने दो अगस्त को बुजुर्ग महिला की गला घोंटकर हत्या कर दी गई। वह अपने मकान (ई-7/31) में अकेले रह रही थीं।

उनके शरीर से गहने व घर से पर्स गायब होने से साफ हो गया था कि लूटपाट के इरादे से हत्या की गई। मुख्य आरोपित महिला के मकान में ही मरम्मत का काम करता था। उसी ने एक अन्य आरोपित के साथ मिलकर प्लान बनाया।

महिला की हत्या इसलिए कर दी गई क्योंकि वह मुख्य आरोपित को पहचानती थीं। दोनों ने लूटपाट को अंजाम देने से पहले गला घोंटकर हत्या कर दी। डीएलएफ फेज-एक थाना प्रभारी वेदप्रकाश ने बताया कि वारदात के बाद से ही आरोपितों की तलाश की जा रही थी।

सहयोगी आरोपित की गिरफ्तारी के बाद से मुख्य आरोपित बचने के लिए इधर-उधर भाग रहा था। बृहस्पतिवार को जैसे ही सूचना मिली कि वह फिर कहीं फरार होने की फिराक में है। टीम रेलवे स्टेशन पहुंची और उसे दबोच लिया। रिमांड के दौरान वारदात की पूरी सच्चाई सामने लाने का प्रयास किया जाएगा। साथ ही जो भी सामान लूटकर ले गया था, उसकी बरामदगी की जाएगी।

दिल्‍ली-एनसीआर की खबरों के लिए यहां करें क्‍लिक

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस