गुरुग्राम [आदित्य राज]। वैश्विक महामारी कोरोना के संक्रमण को देखते हुए नाकों से लेकर थानों में तैनात सभी पुलिसकर्मियों का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा। आशंका है कि दिन भर लोगों के संपर्क में रहने की वजह से कुछ पुलिसकर्मी कोरोना वायरस की चपेट में आ गए होंगे। यह आशंका कापसहेड़ा बॉर्डर पर तैनात 12 पुलिसकर्मियों के कोरोना पॉजिटिव मिलने से बढ़ी है।

जिले में लॉकडाउन का पालन कराने के लिए 60 से अधिक नाके लगाए गए हैं। लॉकडाउन में छूट दिए जाने के बाद से सीमावर्ती इलाकों के नाकों को छोड़कर अन्य नाके दिन में काफी हद तक खोल दिए जाते हैं ताकि ट्रैफिक का दबाव न बढ़े लेकिन पुलिसकर्मियों की सक्रियता जस की तस है।

दिल्ली में कोरोना का संक्रमण अधिक होने की वजह से कापसहेड़ा बॉर्डर, सालापुर बॉर्डर, आया नगर बॉर्डर एवं सिरहौल बॉर्डर सहित सभी बॉर्डर पर 24 घंटे वाहनों की जांच की जा रही है। ई-पास वाले वाहनों को ही सीमा में प्रवेश करने दिया जा रहा है। इस तरह नाकों पर तैनात सभी पुलिसकर्मी ड्यूटी के दौरान न जाने कितने लोगों के संपर्क में आते हैं। इसे देखते हुए सभी की जांच कराई जाएगी। फील्ड में काम करने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या जिले में चार हजार से अधिक है।

साथियों के संक्रमित होने के बाद भी हौसले बुलंद

कापसहेड़ा बॉर्डर पर तैनात उद्योग विहार थाने के 12 पुलिसकर्मियों में कोरोना होने के बाद भी अन्य पुलिसकर्मियों के हौसले में कमी नहीं आई है। पहले की तरह ही सभी निर्धारित समय से पहले ड्यूटी पर पहुंच रहे हैं। कापसहेड़ा बॉर्डर पर लगाए गए नाकों पर ही नहीं बल्कि सभी नाकों पर पुलिस की सक्रियता में कमी नहीं दिखाई दे रही है।

पुलिस आयुक्त मोहम्मद अकील ने कहा कि सभी पुलिसकर्मियों का कोरोना टेस्ट कराया जाएगा, ताकि कोई शंका न रहे। पुलिसकर्मी लोगों से दूर नहीं रह सकते। काम ही ऐसा है। ऐसे में कुछ कर्मियों का कोरोना संक्रमित होना आश्चर्य करने वाली बात नहीं। कई में लक्षण सामने आए थे, वे ठीक हो चुके हैं। इन सबके बावजूद पुलिसकर्मियों के उत्साह में कोई कमी नहीं। 

Posted By: Neel Rajput

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस