गुरुग्राम, जागरण संवाददाता। मानेसर के गांव बार गुर्जर में कुख्यात गैंगस्टर सूबे गुर्जर के मकान पर मानेसर निगम की टीम ने दूसरे दिन भी तोड़फाेड़ की। सुबह ही निगम की टीम बार गुर्जर गांव में बुलडोजर लेकर पहुंच गई। नगर निगम के एक्सईएन नवीन धनखड़ को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया।

एक्सईन ने बताया कि मकान गांव की ही कृषि भूमि पर अवैध रूप से बना हुआ है। करीब साढ़े तीन हजार वर्ग गज में बने मकान की चारदीवारी को बृहस्पतिवार को तोड़ा गया था। मकान खाली करवाकर दूसरे दिन फिर से तोड़फोड़ की कार्रवाई शुरू की गई। निगम अधिकारियों के मुताबिक मकान के निर्माण के लिए विभाग से किसी प्रकार की कोई स्वीकृति, लाइसेंस या भू-उपयोग परिवर्तन नहीं लिया हुआ था।

बता दें कि सूबे गुर्जर गांव का एक गैंगस्टर और कुख्यात अपराधी है जिस पर गुरुग्राम, मेवात, रेवाड़ी, पलवल और दिल्ली में हत्या, हत्या के प्रयास, जबरन वसूली और हथियार अधिनियम के अलग-अलग 42 आपराधिक मामले दर्ज है। वर्तमान में वह अपने आपराधिक मामलों के लिए भोंडसी जेल में बंद है।

आनलाइन गेमिंग एप विन्जो गेम्स पर दिल्ली हाईकोर्ट ने पूछा गूगल का रुख

गूगल प्ले पर अन्य खेलों को छोड़कर केवल डेली फैंटेसी स्पोर्ट्स (डीएफएस) और रमी एप्लिकेशन को अनुमति देने की सर्च इंजन की नीति के खिलाफ आनलाइन गेमिंग एप विन्जो गेम्स द्वारा दायर किए गए मुकदमे पर दिल्ली हाई कोर्ट ने गूगल का रुख पूछा है। न्यायमूर्ति प्रतिबा एम सिंह की पीठ ने अंतरिम राहत की मांग करने वाली याचिका पर कहा कि बौद्धिक संपदा अधिकार (आईआरपी) के मुद्दे पर आगे विचार करने की आवश्यकता है।

वादी विन्जो गेम्स की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता अमित सिब्बल ने कहा कि 28 सितंबर को एक पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लागू होने वाली गूगल नीति अनुचित है। उन्होंने कहा कि इसने जानबूझकर उनके मुवक्किल के आवेदन को बाहर कर दिया। उन्होंने कहा कि विन्जो गेमिंग की दुनिया में एक प्रमुख नाम है और उसने शतरंज और 8-बाल पूल जैसे कौशल के विभिन्न खेलों की पेशकश की है।

पिछले वित्तीय वर्ष में इसका राजस्व सौ करोड़ रुपये से अधिक था। वहीं, गूगल समेत अन्य पक्षों की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता साजन पूवैया ने मुकदमे की स्थिरता के संबंध में आपत्तियां उठाईं और दावा किया कि इसमें आइपीआर या सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम नहीं बल्कि व्यापार और वाणिज्य के मुद्दे शामिल हैं।

Edited By: Vinay Kumar Tiwari