जागरण संवाददाता, गुरुग्राम : गुरुग्राम पुलिस की साइबर सेल ने तकनीकी का प्रयोग करके 10 जुलाई से 20 सितंबर के बीच 110 मोबाइल ढूंढने में सफलता हासिल की है। ये मोबाइल खो गए थे। सभी मोबाइल उनके मालिकों को शनिवार दोपहर पुलिस उपायुक्त (क्राइम) राजीव देशवाल ने अपने कार्यालय में बुलाकर सौंप दिया। मोबाइल पाकर सभी के चेहरे खिल उठे। इससे पहले 17 जून को 65 एवं 10 जुलाई को 100 मोबाइल ढूंढकर उसके मालिकों को सौंपे गए थे।

शनिवार को अपने कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में राजीव देशवाल ने कहा कि मोबाइल खोने की सूचना जैसे ही मिलती है, वैसे ही जांच शुरू कर दी जाती है। साइबर सेल इसके ऊपर काम करता है। पिछले कुछ महीने के दौरान 275 मोबाइल बरामद किए जा चुके हैं। आगे भी जो शिकायत सामने आएंगी, उसका जल्द से जल्द निपटारा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मोबाइल झपटमारी करने वालों के ऊपर भी नजर रखी जा रही है। इसके साथ ही वाहन चोरी के आरोपितों के ऊपर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। वाहन चोरी में 50 प्रतिशत से अधिक की कमी आई है। मोबाइल खोने के बाद से काफी परेशानी हो रही थी। उन्हें तो उम्मीद भी नहीं थी कि मोबाइल मिल जाएगा। गुरुग्राम पुलिस ने ऐसा काम कर दिया जिसके बारे में सोच नहीं सकता था। मोबाइल ढूंढने के लिए गुरुग्राम पुलिस को धन्यवाद देती हूं।

कृतिका मिश्रा, निवासी मदनपुरी मोबाइल खो जाने के बाद ऐसा लगता था जैसे पूरी दुनिया से दूर हो गया। इससे काफी परेशानी हो रही थी। गुरुग्राम पुलिस ने काफी प्रयास करके मोबाइल आखिर ढूंढ ही निकाला। इसके लिए प्रयास करने वाले सभी पुलिसकर्मी को मैं धन्यवाद देता हूं।

गोपी, निवासी हंस एन्क्लेव जैसे ही मुझे सूचना दी गई कि आपका मोबाइल मिल गया है, खुशी का कोई ठिकाना नहीं रहा। मोबाइल जीवन का हिस्सा बन चुका है। उससे कुछ मिनट भी दूर नहीं रहा जा सकता। ऐसा लगता है जैसे दुनिया से दूर हो गए।

मृदुल साहा, निवासी सोहना

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप