जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: भारत निर्वाचन आयोग की हिदायत के अनुसार इस बार सेना में कार्यरत सर्विस वोटर्स (सैन्य कर्मियों) को पोस्टल बैलेट पेपर, इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम (ईटीपीबीएस) से भेजे जाएंगे। जिसको लेकर बुधवार को चुनाव आयोग द्वारा जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिग की गई। इस दौरान बताया गया कि किस प्रकार ईटीपीबीएस के माध्यम से पोस्टल बैलेट पेपर भेजे जाने हैं।

वीडियों कॉन्फ्रेंसिग में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अमित खत्री ने बताया कि जिला में सेना में कार्यरत सर्विस वोटर्स की संख्या 4964 है जिसमें सबसे ज्यादा 2701 सर्विस वोटर्स पटौदी विधानसभा क्षेत्र में हैं। इसी प्रकार गुरुग्राम विधानसभा क्षेत्र में 414, सोहना में 1178 व बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र में 671 सर्विस वोटर्स हैं। इन सर्विस वोटर्स में 4,720 पुरुष व 244 महिला वोटर शामिल हैं। सेना में कार्यरत पुरुष सैनिकों की पत्नियों व महिला कर्मचारियों को सर्विस वोटर्स में गिना जाता है।

बताया गया कि नामांकन वापस लेने की तिथि 26 अप्रैल निर्धारित की गई है। उसके बाद 27 अप्रैल की शाम तीन बजे से सर्विस वोटर्स के पोस्टल बैलेट पेपर ईटीपीबीएस प्रणाली से भेजने की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। संबंधित इलेक्टोरल पंजीयन अधिकारी (ईआरओ) अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र के सर्विस वोटर्स के पोस्टल बैलेट अपलोड करके रिटर्निंग अधिकारी के पास ऑनलाइन भेजेंगे। जहां से ये बैलेट पेपर युनिट के रिकॉर्ड ऑफिसर के पास जाएंगे। वहां से फार्म 13ए, 13सी और 13बी भरकर सैनिक अपने अधिकृत अधिकारी की डिक्लेरेशन के साथ डाक द्वारा वापिस भेजेंगे।

ये बैलेट पेपर मतगणना से पहले रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालय में पहुंचेगे। इस बार इन फार्मों पर क्यूआर कोड भी लगाया गया है ताकि वोट की गोपनीयता भंग ना हो। कॉन्फ्रेंसिग में उपायुक्त अमित खत्री के साथ जिला सैनिक बोर्ड के सचिव विग कमांडर (सेवानिवृत) एनसी शर्मा व चुनाव तहसीलदार संतलाल भी उपस्थित रहे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप