प्रियंका दुबे मेहता, गुरुग्राम

बहुराष्ट्रीय कंपनियों के इस दौर में बेशक वेतन पहले के मुकाबले बहुत अच्छे हो गए हों। मगर महानगरी जीवनशैली की सच्चाई यह भी है कि सेलरी का एक बड़ा हिस्सा पार्लर पर खर्च होता है। बदलते दौर का एक सच यह भी है कि पहले सिर्फ महिलाएं पार्लर की सेवाएं लेती थी। लेकिन अब पुरुष भी खूबसूरती और सुकून के लिए पार्लरों का रुख करने लगे हैं। ऐसे में खर्च दोगुना हो गया है। इस खर्च से बचने के लिए लोग अब टेक्नोलॉजी की सहायता ले रहे हैं। ऐसे में होम ब्यूटी गैजेट्स की मांग और उपयोग बढ़ गया है। लोग घर पर ही पार्लर की सेवाएं ले रहे हैं। पार्लरों पर बढ़ते खर्च ने बढ़ाई गैजेट्स की मांग

पार्लरों पर होने वाले खर्च में इजाफा होने के कारण लोग अब घर पर ही खूबसूरती बढ़ाने के लिए गैजेट्स का उपयोग करना बेहतर समझ रहे हैं। दिल्ली के वसंत कुंज निवासी डेंटिस्ट सोनम नागपाल का कहना है कि पार्लर में मिलने वाली सर्विसेज घर पर गैजेट्स के जरिये आसानी से ली जा सकती हैं। एक बार के खर्च में हमेशा के लिए गैजेट्स मिल जाते हैं। आजकल मिलने वाले गैजेट्स न केवल चेहरे की खूबसूरती पर काम कर रहे हैं। बल्कि शरीर की मांसपेशियों पर भी काम करने वाले गैजेट्स आते हैं। बाजार में फेशियल से लेकर फुट मसाज तक

आजकल बाजार में आ रहे गैजेट्स में फेशियल मसाजर, निडल रोलर, फेस मास्क डिवाइस से फेशियल किया जा सकता है। निडल रोलर से चेहरे पर एक्यूप्रेशर दिया जा सकता है। अपने हाथ निडल मसाज करने के पहले युवा विशेषज्ञों से ट्रे¨नग भी ले रहे हैं। इसके अलावा विभिन्न तरह से मसा¨जग गैजेट्स भी लोकप्रिय हो रहे हैं जो कि हफ्तेभर की थकान उतारने का दावा करते हैं। आइटी कंपनीकर्मी निशा का कहना है कि वे अपनी दोस्त के कहने पर गैजेट्स लेकर आई हैं जिनके परिणामों से वह संतुष्ट हैं। उनका कहना है कि पार्लर के एक बार के खर्च में गैजेट्स आ जाते हैं। फिलिप्स, सोनी, सैमसंग सहित कई छोटी बड़ी कंपनियां इस तरह के गैजेट्स उतार रही हैं। 'इन दिनों गैजेट्स आ रहे हैं, जिन्हें उपयोग में लाकर लोग घरों पर फेशियल और मसाज करते हैं। इस तरह के गैजेट्स शुरुआत में तो काफी हार्ड होते थे। अब कंपनियां इस तरह के गैजेट्स उतार रही हैं जिनका उपयोग आसान है। हालांकि कुछ गैजेट्स ऐसे भी हैं, जिन्हें बिना प्रशिक्षण के उपयोग में लाना नुकसानदायक भी हो सकता है।'

- नुपूर, ब्यूटी एक्सपर्ट, गुरुग्राम 'ब्यूटी होम गैजेट्स काफी लोकप्रिय हो रहे हैं। कंपनियों इसे होम यूजर फ्रेंडली बना रही हैं। ऐसे में लोग घर पर ही खूबसूरती और सुकून के लिए ऐसे गैजेट्स ले रहे हैं। टेक्नोलॉजी ने खूबसूरती के क्षेत्र में काफी सहूलियत दे दी है। अब लोग ऐसे गैजेट्स को लाइफ का हिस्सा बना रहे हैं।'

-कृति बतरा, फैशन एंड ब्यूटी एक्सपर्ट, दिल्ली

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस