जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: रमजान पाक के तीसरे जुमे की नमाज बहुत उत्साह के माहौल में पढ़ी गई। दोपहर डेढ़ बजे जामा मस्जिद में नमाज पढ़ी गई, मगर इसके काफी पहले से ही सदर बाजार में टोपी लगाए रोजेदार दिखने लगे थे। काफी संख्या में नमाजी जामा मस्जिद पहुंचे।

शहर के ईदगाह मैदान, कब्रिस्तान वाले मस्जिद, पालम विहार, डीएलएफ समेत 11 मस्जिदों में जुमे की नमाज पढ़ी गई। कार्यालयों में काम करने वाले लोग लंच ब्रेक में आस-पास के सार्वजनिक स्थल पर पहुंचे और नमाज पढ़ी। आम तौर गर्मियों की दोपहर में खाली-खाली रहने वाले सदर बाजार में भीड़ भाड़ थी। दोपहर में धूप भी आम दिनों की तरह तल्ख नहीं थी। नमाज पढ़ने के बाद लोग सदर बाजार में रमजान से जुड़ी चीजों की खरीदारी करते नजर आए। लोगों ने टोपियां, कुरान शरीफ, फेरने वाली मालाएं, कई किस्म की फेनी, खजूर, फल जैसी चीजें खरीदी। कन्हई, वजीराबाद, सिलोखरा जैसे इलाकों में भी लोग जुमे की नमाज पढ़ने जामा मस्जिद पहुंचे।

गुरुग्राम में काफी संख्या में इस्लाम को मानने वाले मेहनतकश रहते हैं। जामा मस्जिद में नमाज और इफ्तार के समय ऐसे मेहतनकशों की एक बड़ी संख्या होती है। मस्जिद के इमाम जान मोहम्मद ने कहा कि दो दिन बाद रमजान का तीसरा अशरा शुरू हो जाएगा। पवित्र रमजान शरीफ का महीना तीन अशरों पर मुशतमिल होता है। अशरा अरबी भाषा का शब्द है, जिसके मायने दस दिन होते हैं। पहला अशरा रहमतों का कहलाता है वहीं दूसरा और तीसरा अशरा मगफिरत व जहन्नुम से खुलासी का होता है।

दूसरा अशरा अल्लाह तआला का खास रहम व कर्म का होता है। इस अशरे में अल्लाह तआला की तरफ से रोजेदारों के लिए रहमतों की बारिश होती है। यानी बंदे के लिए अल्लाह की तरफ से खास रहमत होती है। रमजान का तीसरा अशरा जहन्नुम की खुलासी का होता है। हदीस पाक में आता है कि जो लोग अपने गलत कर्मो की वजह से जहन्नुम में चले जाते हैं, इस माह ए मुकद्दस की बरकत से ऐसे गुनहगारों को भी जहन्नुम से निकाल लिया जाता है।

रमजान का तीसरा अशरा 21वें रोजे से शुरू होकर आखिरी रमजान तक चलता है। इसकी खास अहमियत भी है। इस अशरे में रोजेदारों द्वारा कई अहम इबादत की जाती है। ऐतकाफ, शब ए कदर व अलविदा की जुमा जैसे अहम अरकान इसी तीसरे अशरे में आते हैं। इस आखिरी असरे में प्रत्येक मस्जिद में किसी एक रोजेदार को ऐतकाफ में बैठना अनिवार्य होता है। रोजेदारों को तीसरे अशरे में अपने परिवार, गांव और मुल्क की कामयाबी के लिए दुआ करनी चाहिए।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस