जागरण संवाददाता, नया गुरुग्राम: ¨प्रस देश का भविष्य था और अपने भविष्य को इस तरह खोना दुर्भाग्यपूर्ण है। अगर अपने जिगर के टुकड़े को स्कूल परिसर तक पहुंचाने की जिम्मेदारी अभिभावकों की है तो उसे परिसर में सुरक्षित रखना स्कूल प्रबंधन की जिम्मेदारी। यह बातें पूर्व सांसद व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता महाबल मिश्रा ने कहीं। वे सेक्टर-44 स्थित एपिसेंटर के सभागार में ¨प्रस हत्याकांड की पहली बरसी पर आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इस मौके पर जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के राष्ट्रीय महासचिव और विधान पार्षद संजय झा ने कहा कि भोंडसी स्थित एक निजी स्कूल में ¨प्रस की निर्मम हत्या को आज एक साल पूरे हो गए हैं। इस मामले में भले ही आरोपित को कोर्ट व सीबीआई ने दोषी माना है, लेकिन ¨प्रस के परिजनों को अब भी इंसाफ का इंतजार है। उन्होंने परिजनों के साहस की सराहना करते हुए कहा कि अपने लाडले को खोने के बाद भी हजारों-लाखों बच्चों की सुरक्षा को लेकर वे जो मुहिम चला रहे हैं वो तारीफ के लायक है। महाबल मिश्रा व संजय झा के साथ कार्यक्रम में सोहना के विधायक तेजपाल तंवर, अतिरिक्त उपायुक्त मनीष, अधिवक्ता कमलेश कुमार मिश्र मौजूद रहे। इस अवसर पर ¨प्रस के परिजनों ने भी कहा कि कोर्ट में सीबीआइ ने पांच फरवरी को चार्जशीट दायर की थी, जिसमें भोलू को आरोपित बताया, लेकिन सात महीने बीत जाने के बाद भी सीबीआइ ने अभी तक पूर्ण चार्जशीट भी दायर नहीं की है। ऐसे में इंसाफ का इंतजार हो रहा है। अगर ट्रायल सीबीआइ कोर्ट में ही होना है तो इसे तत्काल गुरुग्राम कोर्ट से पंचकूला ट्रांसफर कर दिया जाए, ताकि ट्रायल जल्द हो। अभी पूर्ण इंसाफ के लिए और लड़ाई लड़नी बाकी है। कार्यक्रम का संचालन मिथिला लोक फाउंडेशन के चेयरमैन व लेखक डॉ. बीरबल झा ने किया। कार्यक्रम के दौरान संस्था द्वारा 'चाइल्ड सेफ्टी बटन' व डॉ. बीरबल झा द्वारा लिखी किताब 'चाइल्ड सेफ्टी' का भी विमोचन किया गया।

Posted By: Jagran