आदित्य राज, गुरुग्राम

हरियाणा पुलिस के जांच अधिकारियों (आइओ) के हाथ में जल्द ही टैबलेट दिखाई देगा। इसके लिए प्रयास शुरू हैं। शुरुआती दौर में प्रत्येक थाने को चार से पांच टैबलेट उपलब्ध कराने पर जोर दिया जाएगा। धीरे-धीरे सभी जांच अधिकारियों के लिए टैबलेट की व्यवस्था की जाएगी। इससे जांच करने में काफी आसानी होगी। इससे जांच भी जल्द पूरी होगी। मौके पर ही जांच अधिकारी मामले से संबंधित व्यक्ति या दस्तावेजों की फोटो खींचकर तुरंत अपलोड कर सकेंगे।

यह जानकारी प्रदेश के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) मनोज यादव ने दैनिक जागरण से खास बातचीत में दी। वह गुरुग्राम के सेक्टर-44 स्थित अपैरल हाउस में आयोजित यंग एसपी कांफ्रेंस व पुलिस एक्सपो-2020 में पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि अपराध नियंत्रण के लिए जांच में तेजी लाना आवश्यक है। इसके लिए सभी जांच अधिकारियों को और अधिक सशक्त बनाना होगा। जांच में देरी होने से भी अपराध का ग्राफ बढ़ता है। लोगों में गलत धारणा बनने लगती है। इसके लिए आवश्यक है कि जांच अधिकारी तकनीक का बेहतर उपयोग करें। इसी दिशा में प्रदेश के सभी जांच अधिकारियों को टैबलेट उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है। यही नहीं उन्हें बैंकों या किसी अन्य विभाग से जानकारी हासिल करने में सुविधा हो, इस दिशा में प्रयास किए जा रहे हैं। कई बार जांच अधिकारियों को आसानी से जानकारी हासिल नहीं होती है। उन्हें धक्के खाने पड़ते हैं। इस वजह से जांच पूरी करने में देरी होती है और लोगों को लगता है कि पुलिस किसी प्रभाव में आकर ऐसा कर रही है। पुलिस के आधुनिकीकरण पर दिया जा रहा जोर

पुलिस के आधुनिकीकरण पर विशेष जोर दिया जा रहा है। न केवल उनके प्रशिक्षण पर जोर दिया जा रहा है, बल्कि अत्याधुनिक हथियारों से लैस भी किया जा रहा है। आज हरियाणा पुलिस किसी भी स्थिति का सामना करने में सक्षम है। फिलहाल सबसे अधिक साइबर क्राइम पर जोर है। अधिकतर कार्य ऑनलाइन होने लगे हैं। न केवल शिकायतों का जल्द निपटारा हो, बल्कि आरोपित भी जल्द पकड़े जाएं, इसके लिए आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल हो रहा है। साथ ही लोगों को भी जागरूक करने पर जोर है। जागरूकता किसी भी समस्या का सबसे बेहतर समाधान है। यंग एसपी कांफ्रेंस व पुलिस एक्सपो-2020 से काफी लाभ

गुरुग्राम में यंग एसपी कांफ्रेंस व पुलिस एक्सपो-2020 का सफल आयोजन किया गया। इससे यह पता चला कि देश में कहां पर क्या हो रहा है। किस राज्य में तकनीक पर कितना जोर है। स्मार्ट पुलिसिग पर सभी राज्य जोर देने लगे हैं। हरियाणा में इस विषय पर तेजी से काम चल रहा है। इसके सकारात्मक परिणाम सामने आ रहे हैं। पुलिस एक्सपो-2020 के माध्यम से यह दर्शाने का प्रयास किया गया कि देश अत्याधुनिक हथियारों के उत्पादन के क्षेत्र में किस तरह आगे बढ़ रहा है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021