जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: वीआइपी मोबाइल नंबर का सिम देने के नाम पर एक ठग ने एक कंपनी के मालिक से 1,31,109 रुपये ठग लिए। मामले की शिकायत साइबर क्राइम थाना को दी। प्राथमिक जांच के बाद केस आइएमटी सेक्टर सात थाने को ट्रांसफर किया गया तो मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी गई।

आइएमटी मानेसर में सुनील शाह की सुरभि ग्लास प्राइवेट लिमिटेड नाम से फैक्टरी है। आठ जनवरी को सुनील अपने आफिस मे थे तभी उनके मोबाइल पर एक काल आई। काल करने वाले व्यक्ति ने अपना नाम आदित्य जैन बताते हुए खुद को एयरटेल कंपनी का कर्मचारी बताया। उसने कहा कि उनकी कंपनी 9000000000 नंबर का वीआइपी नंबर जीएसटी के साथ 65,554.90 रुपये में जारी करेगी। अगर लेना चाहते हैं आनलाइन पेमेंट कर सकते हैं। इनवायस भेज देंगे।

सुनील झांसे में आ गए और ठग द्वारा भेजे इनवायस में दिए बैंक खाते में बताई गई रकम आनलाइन भेज दी। कुछ देर बाद ही ठग की फिर काल आई। उसने कहा भेजे गए इनवायस की पेमेंट किसी और ने कर दी है। दूसरी इनवायस भेज रहा हूं उसका पेमेंट कर दें। पहले की गई पेमेंट वापस खाते में भेज दी जाएगी। सुनील ने फिर दूसरे इनवायस पर उतनी रकम भेज दी। इस इनवायस का बैंक खाता अलग था।

सुनील ने 14 जनवरी तक इंतजार किया। जब उन्हें सिम नहीं मिला तो आदित्य द्वारा किए गए मोबाइल नंबर पर काल की तो नंबर नहीं मिला। सुनील ने एयरटेल कंपनी के कस्टमर केयर पर काल की तो कंपनी की ओर से कहा गया कि उनकी कंपनी से काल नहीं हुई। किसी ने ठगी की है। सुनील ने साइबर क्राइम थाने में शिकायत दी तो मामले की जांच शुरू हुई। पुलिस प्रवक्ता सुभाष बोकन ने ने कहा कि मामले की छानबीन की जा रही है। जल्द ठग की पहचान कर ली जाएगी।

Edited By: Jagran