जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: अपने वाहन से सफर करने वाले अधिकांश नगरवासी दिल्ली-गुरुग्राम एक्सप्रेस-वे स्थित खेड़कीदौला टोल प्लाजा पर मौजूद कैश काउंटरों की संख्या को घटाने के पक्ष में नहीं हैं। उनका कहना है कि अगर इनकी संख्या कम की गई तो एक बार फिर से महाजाम की स्थिति बन जाएगी। बता दें कि टोल प्लाजा के दिल्ली-जयपुर और जयपुर-दिल्ली मार्ग पर एक-एक कैश लेन हैं। इन कैश लेन पर तीन-तीन कैश काउंटर बने हुए हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की ओर से की गई घोषणा के मुताबिक शुक्रवार रात 12 बजे से एक कैश लेन से दो कैश काउंटर हटा कर सिर्फ एक किया जाना था। हालांकि शुक्रवार देर रात लिए एनएचएआइ की तरफ से लिए गए फैसले के अनुसार तीस दिन के लिए और पुरानी व्यवस्था को ही जारी रखने का फैसला लिया गया।

लोगों का कहना है कि खेड़कीदौला टोल प्लाजा के दोनों ओर नौ-नौ फास्टैग लेन हैं। इसके अलावा टोल प्लाजा के दोनों ओर एक-एक कैश लेन है। इन कैश लेन के तीनों काउंटरों पर शुक्रवार को वाहनों का भारी जाम रहा। वहीं फास्टैग की सभी लेन में सुबह से लेकर शाम तक जाम रहा। परेशान वाहन चालकों का कहना है कि कैश काउंटरों की संख्या घटाने की बात तो दूर कैश लेनों की संख्या को और बढ़ाने की मांग की जा रही है।

रोजाना दिल्ली से रेवाड़ी जाने वाले उद्यमी बलबीर सिंह का कहना है कि इस टोल प्लाजा से बिना जाम में फंसे निकलना संभव नहीं है। जब से फास्टैग की व्यवस्था शुरू हुई है तब से दिक्कत और बढ़ गई है। इनका कहना है कि टोल के दोनों ओर दो-दो कैश लेन होनी चाहिए, जिससे वाहन चालकों की परेशानी कम हो सके।

30 दिन की मिली राहत

खेड़कीदौला टोल प्लाजा के प्रोजेक्ट हेड आरएस भाटी का कहना है कि शुक्रवार रात नौ बजे मिली जानकारी के मुताबिक 30 दिन के लिए राहत दे दी गई है। फिलहाल पुरानी व्यवस्था ही चलेगी। एनएचएआइ ने उन 30 टोल प्लाजा को राहत दी है, जिन पर टोल दबाव अधिक है। इनमें गुरुग्राम का खेड़कीदौला टोल प्लाजा भी शामिल है। यदि खेड़कीदौला टोल प्लाजा के कैश लेन के तीन काउंटरों के स्थान पर सिर्फ एक काउंटर बनाया गया तो यहां पर फिर से महाजाम की स्थिति बनेगी। जब तीन कैश काउंटर होने के बाद भी जाम लग रहा है तो इसके एक काउंटर होने के बाद क्या स्थिति होगी इसका सहज अनुमान लगाया जा सकता है।

बलजीत सिंह, वाहन चालक खेड़कीदौला टोल प्लाजा पर जब से फास्टैग सिस्टम शुरू हुआ है, तब से जाम की समस्या कम होने के स्थान पर और बढ़ गई है। टोल प्लाजा के आने और जाने वाले मार्ग पर सिर्फ एक-एक कैश लेन है। इसकी संख्या बढ़ा कर कम से कम चार करनी चाहिए तब जाकर थोड़ी राहत मिलेगी।

राजेश कुमार ग्रोवर, वाहन चालक खेड़कीदौला टोल प्लाजा लोगों के लिए नासूर बन गया है। आमजन की असुविधा को देखते हुए इसे तुरंत हटाने की जरूरत है। केंद्र एवं प्रदेश सरकार को चाहिए कि वह इस टोल प्लाजा को हटवाए। ऐसा नहीं होगा तो वाहन चालकों की दिक्कत ज्यों की त्यों साल-दर-साल बनी रहेगी।

प्रमोद कुमार, वाहन चालक मेरा खेड़कीदौला टोल प्लाजा से रोजाना गुजरना होता है। ऐसा कभी नहीं हुआ कि जब यहां पर जाम नहीं लगा हो। फास्टैग को लेकर बड़ी-बड़ी बातें हो रही थीं कि इससे वाहनों का जाम टोल प्लाजा पर नहीं लगेगा, लेकिन हो रहा है इसके ठीक विपरीत। कैश लेन कम होने से भी भारी दिक्कत होगी है।

जगदीश कुकरेजा

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस