जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: कन्फेडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्रीज (सीआइआइ) द्वारा बुधवार को दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर स्थित होटल लीला में 'बिजनेस एंड बियांड' विषय पर परिचर्चा आयोजित की गई। परिचर्चा में सिरसा की सांसद सुनीता दुग्गल बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहीं। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन बनाने के लिए अपने मानव संसाधन पूल के विशेष प्रबंधन की जरूरत है। अगर इसका लाभ सही से उठाया जाए तो यह लक्ष्य हासिल किया जा सकता है।

सांसद सुनीता दुग्गल ने सामाजिक जिम्मेदारियों के बारे में कहा कि यह सरकार एवं उद्योगों का सामूहिक कर्तव्य है। उन्होंने कॉरपोरेट क्षेत्र से अपील किया कि वह पिछड़े जिलों और दूरदराज के क्षेत्रों के विकास को ध्यान में रखें। उन्होंने कहा कि सीएसआर देश की कंपनियों के लिए कोई नई बात नहीं है। सीआइआइ से उन्होंने आग्रह किया कि वह सीएसआर में रुचि लेने वाले कॉरपोरेट्स के एक मंच पर जाएं, जिससे साथ में सामाजिक विकास पर मंथन किया जाए।

इस मौके पर गुरुग्राम मेट्रोपॉलिटन डेवलपमेंट अथॉरिटी (जीएमडीए) के सीईओ वीएस कुंडू ने जलापूर्ति सहित अन्य विषयों पर बात की। सीआइआइ उत्तरी क्षेत्र के अध्यक्ष समीर गुप्ता ने कहा कि व्यापारिक घरानों को भी देश के सतत विकास के लक्ष्य को 2030 तक पाने के लिए केंद्र सरकार के दृष्टिकोण के अनुसार आगे बढ़ना होगा। इस अवसर पर सीआइआइ हरियाणा स्टेट काउंसिल के पूर्व अध्यक्ष एवं मुंजाल ऑटो इंडस्ट्रीज लिमिटेड के ईडी अनुज मुंजाल ने कहा कि कंपनियों को इस प्रकार अपना कारोबार दायित्व निभाना चाहिए, जिससे समाज पर सकारात्मक प्रभाव पड़े। इस मौके पर सीआइआइ गुरुग्राम जोन के अध्यक्ष हरभजन सिंह, जेसीबी इंडिया लिमिटेड के जसमीत सिंह व मिडा इंडस्ट्रीज लिमिटेड एचआर अध्यक्ष अनादि एन. सिन्हा ने भी लोगों को संबोधित किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस