जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: आयुष्मान भारत हरियाणा के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) अशोक मीणा शुक्रवार को सेक्टर-10 स्थित जिला अस्पताल का दौरा किया। इस दौरान उनके साथ उपमुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. रवि विमल भी थे। इस मौके पर आयुष्मान भारत स्कीम के संबध में गुरुग्राम, फरीदाबाद, नारनौल, रेवाड़ी, नूंह, पलवल, झज्जर के सिविल सर्जन (सीएमओ) के साथ बैठक की। बताया जा रहा है कि सात जिलों में आयुष्मान भारत स्कीम को लेकर चर्चा की और काम करने की समीक्षा की। सभी जिलों में आयुष्मान भारत में शामिल लोगों के गोल्डन कार्ड बनाने में तेजी से काम करने के आदेश दिए।

जिला गुरुग्राम आयुष्मान भारत के नोडल अधिकारी डॉ. एमपी सिंह ने कहा कि आदेश मिले हैं कि मरीजों को सरकारी अस्पतालों में ज्यादा सुविधा दी जा सके, इसपर काम किया जाए। प्राइवेट अस्पतालों में इलाज करने में मरीजों को किसी तरह की परेशानी न रहे इसके लिए प्राइवेट अस्पतालों में लगातार संपर्क में रहे। इस मौके पर जिला गुरुग्राम से अस्पताल प्रबंधक डॉ. मनीष राठी व झज्जर के सीएमओ डॉ. रणदीप पूनिया, रेवाड़ी के सीएमओ डॉ. कृष्ण कुमार, नारनौल के सीएमओ डॉ. संतलाल वर्मा व पलवल से सीएमओ डॉ. प्रदीप शर्मा और नूंह से नोडल अधिकारी डॉक्टर राकेश चावला व फरीदाबाद डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. रमेश बैठक में शामिल हुए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस