जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: पिछले माह 28 जून को सेक्टर-49 स्थित एक मेडिकल स्टोर जिला औषधि नियंत्रक टीम व पुलिस टीम ने छापेमारी कर अमेरिकी कंपनी के नाम से बना सैनिटाइजर पकड़ा था। जांच में यह नकली साबित हुआ। यहां पर विदेशी कंपनी के नाम से तैयार कर महंगे दाम पर सैनिटाइजर बेचा जा रहा था। पुलिस ने इस मामले में प्रशांत भारद्वाज सहित दो लोगों को गिरफ्तार कर विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया है। पुलिस द्वारा दोनों आरोपितों को पूछताछ के लिए एक दिन के रिमांड पर लिया है। रिमांड के दौरान पूछताछ के बाद लक्ष्मण विहार से नकली सैनिटाइजर को छोटे डिब्बों में भरने का सामान बरामद किया है।

नकली सैनिटाइजर बनाने में गुरुग्राम में पूरा रैकेट काम कर रहा है। सेक्टर 50 थाना पुलिस को दिल्ली के राजेंद्र प्लेस स्थित एक केमिकल कंपनी में काम करने वाले एवं दिल्ली के रहने वाले दो निवासियों ने जानकारी दी थी कि गुरुग्राम के साउथ सिटी-2 स्थित मेडिकल स्टोर में उनकी कंपनी के नाम से सैनिटाइजर बेचा जा रहा है। सूचना पाने के बाद जिला औषधि नियंत्रक और पुलिस की टीम साउथ सिटी टू स्थित मेडिकल स्टोर पर पहुंची और वहां से भारी मात्रा में नकली सैनिटाइजर बरामद किया गया।

पुलिस ने मेडिकल स्टोर पर नकली सैनिटाइजर बेचने वाले आरोपी को भी गिरफ्तार कर रिमांड पर लिया। पूछताछ के बाद पुलिस ने उक्त आरोपी की निशानदेही पर प्रशांत भारद्वाज के लक्ष्मण विहार स्थित ठिकाने से नकली सैनिटाइजर बरामद करने के साथ प्रशांत और एक अन्य आरोपित को पुलिस ने हिरासत में लिया।

जिला औषधि नियंत्रक अधिकारी अमनदीप चौहान ने कहा कि 28 जून की रात छापेमारी की गई थी और पाया गया था कि महंगे दामों में सैनिटाइजर बेचा जा रहा है। तब पर संचालक को हिरासत में लिया था। चौहान ने कहा कि शिकायत मिली थी कि यहां विदेशी कंपनी का सैनिटाइजर महंगे दामों में बेचा जा रहा है, जिसके बाद छापेमारी की गई है और सैनिटाइजर के सैंपल लिए हैं। जिन्हें जांच के लिए भेजा गया था। चौहान ने कहा कि यह अमेरिका की कंपनी है और अमेरिका सरकार ने कोरोना महामारी के चलते कंपनी को सैनिटाइजर दूसरे देश में बेचने पर रोक लगा लगी रखी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस