जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: गुरुग्राम में 99 फीसद रियल एस्टेट ब्रोकर हरियाणा भू संपदा विनियामक प्राधिकरण (हरेरा) से बिना लाइसेंस लिए प्रॉपर्टी खरीद-फरोख्त का काम कर रहे हैं। इसे लेकर हरेरा बड़ी कार्रवाई करने जा रहा है। ऐसे ब्रोकरों को पहले नोटिस भेजकर लाइसेंस नहीं लेने का कारण पूछा जाएगा।

इस बात की जानकारी हरेरा चेयरमैन डॉ. केके खंडेलवाल ने शुक्रवार को दी। उन्होंने बताया कि गुरुग्राम में 99 फीसद रियल एस्टेट ब्रोकरों का पंजीकरण हरेरा गुरुग्राम में हो चुका है लेकिन अभी तक इन्होंने लाइसेंस नहीं लिया है। ब्रोकर लाइसेंस क्यों नहीं लेते, इस पर उन्होंने बताया कि वे मनमाने तरीके से प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्त करते हैं, जिसमें वह छह से 10 फीसद तक कमीशन लेते हैं। लाइसेंस लेने के बाद वह प्रॉपर्टी की खरीद में मनमाने तरीके से कमाई नहीं कर सकते। यही कारण है कि उन्होंने अब तक लाइसेंस नहीं लिया है। डॉ. केके खंडेलवाल ने कहा कि हरेरा गुरुग्राम को होमबायर्स की ओर से की गई 33 फीसद शिकायतों का समाधान कर दिया गया है। कुल 6000 शिकायतों में से 2200 मामलों का निपटारा कर दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस