जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण द्वारा बुधवार को सेक्टर-34 स्थित हीरो मोटोकार्प के प्लांट परिसर में औद्योगिक आपदा को लेकर माक ड्रिल हुई। इसमें राष्ट्रीय आपदा राहत बल (एनडीआरएफ) की टीम ने औद्योगिक इकाई में गैस का रिसाव होने पर राहत व बचाव कार्य का प्रदर्शन किया। टीम ने वहां पर फंसे लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने की गतिविधियों का संचालन किया। साथ ही कंपनी स्टाफ को ऐसी आपात स्थिति में क्या करना चाहिए इसके बारे में जागरूक भी किया।

हीरो मोटोकार्प प्लांट परिसर में माक ड्रिल की शुरुआत सबह 9.45 बजे हुई। प्लांट में जैसे ही आपातकालीन अलार्म बजा वैसे ही सांकेतिक रूप से प्रोपेन गैस छोटी गई व बड़ी दो पाइप लाइनों में रिसाव की स्थिति उत्पन्न की गई। छोटी पाइप लाइन को हीरो मोटोकार्प की रेस्क्यू एंड कंट्रोल टीम ने पीपीई किट व हेलमेट पहनकर एहतियात बरतते हुए वाटर स्क्रीन बनाकर कंट्रोल कर लिया। लेकिन बड़ी पाइप लाइन में सांकेतिक गैस रिसाव उनसे ठीक नहीं हुआ, जिसके बाद जिला प्रशासन को सूचित किया गया, जहां से एनडीआरएफ गाजियाबाद को तुरंत मौके पर पहुंचने को कहा गया। इस बीच जिला प्रशासन की सूचना पर फायर ब्रिगेड, स्वास्थ्य विभाग, राज्य आपदा प्रबंधन बल (एसडीआरएफ), सिविल डिफेंस, औद्योगिक सुरक्षा एवं स्वास्थ्य विभाग व पुलिस विभाग की टीमें मौके पर पहुंच गईं। हीरो मोटोकार्प प्लांट के भीतर भी बनाए गए स्टेजिग एरिया में सभी संसाधन व बचाव उपकरण व मशीनरी एकत्रित की गई। इस ड्रिल के लिए प्लांट परिसर में ही इमरजेंसी आपरेशन सेंटर भी बनाया गया था।

अतिरिक्त उपायुक्त प्रशांत पवार के मार्गदर्शन में आयोजित इस माक ड्रिल में एनडीआरएफ की टीम ने गाजियाबाद से पहुंचकर हीरो मोटोकार्प प्लांट में बड़ी प्रोपेन गैस पाइपलाइन की सांकेतिक रिसाव को बंद किया। इस दौरान घायल मिले चार व्यक्तियों को वही प्लांट परिसर में बनाए गए अस्थायी मेडिकल पोस्ट में प्राथमिक चिकित्सा देकर एंबुलेंस के जरिए स्थानीय नागरिक अस्पताल सेक्टर-10 में उपचार के लिए भेज दिया गया।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021