संवाद सहयोगी, नया गुरुग्राम: टाउन प्लानिग के जिला नगर योजनाकार (डीटीपी प्लानिग) ने निवासियों की शिकायत पर सेक्टर-82 स्थित मेप्सको कासा बेला सोसायटी के बिल्डर प्रबंधन को नोटिस जारी कर वहां की समस्याओं का 15 दिन के भीतर समाधान का निर्देश दिया है। यहां की आरडब्ल्यूए ने सोसायटी में चल रही विभिन्न समस्याओं को लेकर सीएम विडो पर शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद डीटीपी प्लानिग कार्यालय द्वारा सोसायटी का निरीक्षण किया गया। समस्याओं को सूचीबद्ध कर बिल्डर प्रबंधन को 15 दिन के भीतर इनका समाधान के सख्त निर्देश दिए गए हैं।

सेक्टर-82 में मैप्सको कासा बेला प्रोजेक्ट 2008 में लगभग 19.5 एकड़ में लांच किया गया था। इसमें कुल 11 टावर हैं जिनमें 912 फ्लैट और 44 विला हैं। यहां लगभग 750-800 परिवार रह रहे हैं। बिल्डर ने शुरुआत से ही प्रोजेक्ट में आधा-अधूरा काम किया और आज तक भी लोग उन समस्याओं से परेशान हैं।

सोसायटी में क्या हैं समस्याएं

- अग्निशमन सुविधाओं का भारी अभाव

- आग की स्थिति में फायर अलार्म नहीं बजता

- सोसायटी में बने पिलरों की हालत खराब है

- इलेक्ट्रिकल का काम स्तरीय नहीं किया गया है

- जगह-जगह बिजली के तार निकले हुए हैं, इसकी वजह से हादसे का डर बना रहता है

- लिफ्ट को रिस्क कैटेगरी में रखा गया है

- रेन वाटर हार्वेस्टिग की सुविधा ठीक नहीं 2016 में बिल्डर ने फ्लैटों का कब्जा दिया और आज तक प्रोजेक्ट के अंतर्गत काम पूरा नहीं हुआ। कई बार बिल्डर प्रबंधन से बात की लेकिन समस्याओं की कोई सुनवाई नहीं करता। अब सीएम विडो पर शिकायत दर्ज कराई है।

धर्मवीर, आरडब्ल्यूए प्रधान, मेप्सको कासा बेला सोसायटी बिल्डर को यहां की समस्याओं का 15 दिन के भीतर समाधान के लिए नोटिस जारी कर दिया है। अगर समय-सीमा के भीतर समाधान नहीं हुआ तो अर्बन एक्ट नियमों के तहत कार्रवाई की जाएगी।

आरएस बाठ, डीटीपी प्लानिग टाउन प्लानिग कंपनी को नोटिस भेजेगा और उसी हिसाब से कंपनी समस्याओं पर संज्ञान लेगी।

अशोक, प्रेसिडेंट, प्रोजेक्ट कासा बेला

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस