जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: पुराने गुरुग्राम में मेट्रो विस्तार को लेकर फिर से तैयार की गई डीपीआर स्वीकृति के लिए प्रदेश सरकार के पास भेज दी गई है। कैबिनेट से स्वीकृति मिलने के बाद रिपोर्ट केंद्र सरकार के पास भेज दी जाएगी। उम्मीद है कि इस महीने केंद्र सरकार के पास डीपीआर भेज दी जाएगी। वहां से मंजूरी मिलते ही जमीनी स्तर पर काम शुरू हो जाएगा।

कई वर्षों से पुराने गुरुग्राम में मेट्रो विस्तार को लेकर चर्चा चल रही है। कई बार डीपीआर के ऊपर काम किया गया। अब जाकर इसे फाइनल किया गया है। सबसे पहले हुडा सिटी सेंटर मेट्रो स्टेशन से सुभाष चौक, हीरो होंडा चौक, सेक्टर-37, सेक्टर-10, सेक्टर-10ए, सेक्टर-9, सेक्टर-9ए, ईएसआइ हॉस्पिटल, सेक्टर चार-पांच चौक से होते हुए रेलवे स्टेशन तक विस्तार के लिए डीपीआर तैयार की गई थी। फिर रेलवे स्टेशन से पालम विहार, उद्योग विहार से होते हुए श्याम चौक तक कॉरिडोर विकसित करने के लिए डीपीआर तैयार की गई। फिर श्याम चौक से एंबियंस मॉल के सामने रैपिड मेट्रो स्टेशन तक विस्तार करने के लिए डीपीआर के ऊपर काम किया गया। इसके बाद फिर डीपीआर में संशोधन किया गया। अब कहा जा रहा है कि फाइनल डीपीआर तैयार करके प्रदेश सरकार को भेज दी गई है। मेट्रो विस्तार का कार्य हरियाणा मास रैपिड ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन द्वारा किया जाएगा। सेक्टर-चार निवासी राजकुमार कहते हैं कि कई बार डीपीआर तैयार होने की सूचना सामने आ चुकी है। अब जमीनी स्तर पर काम शुरू होना चाहिए। पालम विहार निवासी जयशंकर सिंह कहते हैं कि जितनी जल्द मेट्रो का विस्तार होगा, उतनी ही जल्द सड़कों से ट्रैफिक का दबाव कम होगा। योजना में किसी भी स्तर पर कमी न रहे, इसके लिए बारीकी से ध्यान दिया जा रहा है। अब डीपीआर फाइनल है। कैबिनेट से स्वीकृति मिलने के बाद केंद्र सरकार के पास रिपोर्ट जाएगी। केंद्र सरकार के पास रिपोर्ट भेजने के साथ ही मिट्टी जांच सहित कई तरह के कार्य शुरू कर दिए जाएंगे।

- वीएस कुंडू, सीईओ, जीएमडीए, गुरुग्राम

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस