गुरुग्राम, एजेंसी। दिल्ली-एनसीआर में लगातार हो रही बारिश से लोगों को राहत नहीं मिल रही है। बारिश के कारण सड़कों पर जलजमाव की स्थिति है और ऐसे में लोगों को जाम की समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इसी क्रम में गुरुग्राम में 23 सितंबर को भारी बारिश के मद्देनजर ज़िले के सभी कॉर्पोरेट कार्यालयों और निजी संस्थानों को कर्मचारियों को घर से काम करने की सलाह दी गई है। ताकि लोग यातायात की भीड़ से बच सके और सड़कों पर जाम की समस्या न हो।

इससे मरम्मत कार्य भी आसानी से किया जा सकेगा। ग्ररुग्राम के आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने लोगों से अपील करते हुए कहा है कि 23 सितंबर को घर से काम करके हाइवे पर चल रहे मरम्मत के कार्य में सहयोग करें। उधर, बृहस्पतिवार की दोपहर से हुई तेज वर्षा के बाद कई इलाकों में कई घंटे बिजली गुल रही। बिजली आपूर्ति ठप होने से लोगों को कई तरह की परेशानी का सामना करना पड़ा। सोहना बिजली निगम के कार्यालय में ही बिजली गुल रही।

बिजली बंद होने के कारण कंप्यूटर भी नहीं चल पाए। शहर के अधिकतर जगहों पर देर रात तक बिजली गुल रही। कंप्यूटर बंद होने के कारण उपभोक्ताओं के काम भी नहीं हो पाए। लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी बिजली बंद होने पर बिजली निगम की तरफ से कोई संतोषजनक जवाब न मिलने पर होती है। लोगों का आरोप है कि उपमंडल अभियंता व जेई सरकारी फोन भी नहीं उठाते हैं।बिजली निगम के अधिकारियों का शहर में 24 घंटे बिजली आपूर्ति का दावा है।

बारिश के बाद या हल्की सी आंधी आने के बाद शहर में बिजली गुल हो जाती है। बृहस्पतिवार को शहर के सभी इलाकों में सुबह से ही तेज वर्षा होती रही। वर्षा के बाद से ही राजेंद्र पार्क, लक्ष्मण विहार, धनकोट, बसई, गैरतपुर बांस, सोहना शहर में बिजली गुल रही। राजेंद्र पार्क के राम सिंह का कहना है कि बिजली काट दी जाती है। निगम के कार्यालय में फोन करते रहो। यह भी जानकारी नहीं मिल पाती है कि किस वजह से बिजली कटी है।

कितनी देर तक बिजली आने की संभावना है। सिविल लाइंस में शाम चार बजे से बिजली गुलसिविल लाइंस इलाका पाश इलाका है। इस क्षेत्र में मंडलायुक्त और जिला उपायुक्त के निवास के साथ ही सभी अधिकारियों के निवास भी हैं। सिविल लाइंस इलाके में शाम चार बजे से बिजली गुल है। बिजली निगम के अधिकारी पाश इलाकों में भी बिजली होने के बाद गंभीरता नहीं दिखाते हैं।

गांधीनगर इलाके में तीन बजे से ही बिजली आपूर्ति ठप रही। गांधीनगर के प्रवीण कुमार का कहना है कि वे बिजली निगम के कार्यालय में और शिकायत केंद्र पर लगातार फोन कर रहे हैं। फोन पर भी कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिल पा रहा है। मानेसर औद्योगिक क्षेत्र में भी पूरा दिन बिजली कटौती का बुरा हाल रहा। मानेसर के आसपास वाटिका सिटी, सेक्टर-82, 83 और 84 के लोग भी दिनभर बिजली न रहने की वजह से परेशान रहे।

Edited By: Pradeep Kumar Chauhan