जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: रूडसेट संस्थान में महिलाओं के लिए चलाए जा रहे 756वें डेयरी एवं वर्मी कंपोस्टिग प्रशिक्षण कार्यक्रम का बृहस्पतिवार को समापन हो गया। इस अवसर पर नेशनल अकादमी आफ रूडसेट से शक्ति मल्लिक बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहे। प्रशिक्षण कार्यक्रम में गांव नौरंगपुर की 33 महिलाओं को प्रशिक्षण दिया गया। इसका उद्देश्य महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है। जिससे कि वे डेयरी फार्मिंग से जुड़कर अपने स्वरोजगार के साधन जुटा सकें। ये सभी महिलायें स्वयं सहायता समूह में कार्य कर रही है। संस्थान के निदेशक संजय ढींगड़ा ने इस अवसर संस्थान द्वारा चलाई जा रही गतिविधियों से अवगत करवाया। इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में पशु विज्ञान केंद्र के पशु चिकित्सक केके यादव ने पशुओं के नस्ल का चयन वैज्ञानिक तरीके से, वैज्ञानिक तरीके से कृत्रिम गर्भाधान, बीमारियों का उपचार आदि के बारे में विस्तृत प्रशिक्षण दिया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021