जागरण संवाददाता, गुरुग्राम : शीतला कालोनी में शुक्रवार रात खाना बनाने के दौरान सिलेंडर ब्लास्ट होने से एक ही परिवार के चार लोग 60 से 70 फीसद तक झुलस गए। उन्हें पहले जिला नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में रेफर कर दिया गया। सभी की हालत गंभीर है। सेक्टर-पांच थाना पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

मूल रूप से उत्तर प्रदेश के कासगंज जिले के गांव इंदा नगर जसनपुर निवासी 40 वर्षीय संजू शीतला कालोनी में किराये पर रहकर रेहड़ी लगाते हैं। शुक्रवार रात उनकी पत्नी 35 वर्षीय लक्ष्मी खाना बना रही थी। उसी दौरान अचानक आग लग गई। जब तक वह कुछ समझती तब तक सिलेंडर ब्लास्ट कर गया। इससे लक्ष्मी, उनके पति संजू, 20 वर्षीय बेटी निकिता और 12 वर्षीय बेटा नितिन आग की चपेट में आ गए। बेटा शोर मचाते हुए घर से बाहर लगभग 300 मीटर से अधिक दूरी तक गया और गिर गया। इसके बाद आसपास के लोग पहुंचे और आग पर काबू पाया। साथ ही सभी को अस्पताल पहुंचाया। सूचना मिलते ही सेक्टर-पांच थाना पुलिस मौके पर पहुंची। जांच अधिकारी एसआइ रतनपाल ने बताया कि छोटा सिलेंडर था। किस वजह से आग लगी, यह अभी साफ नहीं हुआ है। इतनी जानकारी सामने आई है कि आग लगने के साथ ही सिलेंडर ब्लास्ट हो गया। सभी की हालत गंभीर बनी हुई है। वे कुछ भी बताने की स्थिति में नहीं हैं।

Edited By: Jagran