हंस राज, नया गुरुग्राम

हाल ही में प्रदेश सरकार ने हरियाणवी व गैर-हरियाणवी सिनेमा का विकास करने और फिल्म अनुकूल माहौल बनाने के लिए फिल्म नीति को मंजूरी दी है। नई फिल्म नीति के अंतर्गत ¨सगल ¨वडो सिस्टम से आवेदन के एक सप्ताह के भीतर शू¨टग की अनुमति मिलने के साथ ही शू¨टग के दौरान फिल्म निर्देशकों को सुरक्षा भी मुहैया कराई जाएगी। यही नहीं फिल्म को उद्योग का दर्जा दिया जाएगा और फिल्म निर्माण को उद्यम प्रोत्साहन नीति के तहत लाभ दिए जाएंगे। फिल्मकारों का मानना है कि प्रदेश में फिल्म को उद्योग का दर्जा मिलने के बाद बड़े पर्दे पर औद्योगिक राजधानी गुरुग्राम की मौजूदगी भी बढ़ेगी।

-

निर्देशकों को क्यों लुभाती है साइबर सिटी :

फिल्म नीति से गुरुग्राम और उसके आस-पास के क्षेत्रों को लाभ पहुंचने की संभावना है क्योंकि हाल के वर्षो में दिल्ली के साथ लगते इलाकों को फिल्म की शू¨टग के लिए पसंद किया जा रहा है। साइबर सिटी में शहरी परिवेश है और इससे लगते कुछ ऐसे क्षेत्र में भी है जहां ग्रामीण परिवेश भी है तो एक तरीके से ये शू¨टग के लिए संतुलित जगह है। शहर में जहां साइबर हब, गोल्फ कोर्स, ¨कगडम ऑफ ड्रीम्स (केओडी) जैसी आलीशान जगहे शहरी परिवेश देती हैं वहीं ग्रामीण परिवेश के लिए फिल्म निर्माता मांगर बानी, तावड़ू, पटौदी, फरुखनगर और सोहना का इस्तेमाल करते हैं। पटौदी पैलेस में 'रंग दे बसंती' और 'वीर-जारा' जैसी बड़ी फिल्मों की शू¨टग भी हुई है।

-

इन फिल्मों में दिखी है झलक:

पिछले कुछ वर्षों में साइबर सिटी ने बॉलीवुड फिल्मों व लघु फिल्मों में अपनी जगह बनाई है। कॉरपोरेट हब में साल 2017 में बनी क्राइम थ्रिलर 'गुड़गांव' व महिला के खिलाफ अपराध को लेकर बनी 'गुरुग्राम' की शू¨टग तो हुई ही है, साथ ही साल 2014 में बनी बॉलीवुड फिल्म 'बेवकूफियां' और 2015 में 'तमाशा' और 'पीकू' के भी कई ²श्य शहर में फिल्माए गए थे। शहर व इसके आस-पास फिल्माए गए फिल्मों की फेहरिस्त लंबी है, जिसमें सलमान खान अभिनीत 'सुल्तान', अनुष्का शर्मा की 'एनएच-10', रणदीप हुडा अभिनीत 'लाल रंग', इमरान खान अभिनीत 'मटरू की बिजली का मंडोला', विवेक अग्निहोत्री निर्देशित 'फ्रीडम', रणबीर कपूर अभिनीत 'बेशरम', मनीष पॉल अभिनीत 'मिकी वायरस', इमरान हाशमी अभिनीत 'एक थी डायन' व अर्जुन कपूर अभिनीत 'औरंगजेब' जैसी कई फिल्में हैं।

हाल ही में अभिनेता राजकुमार राव व सोनम कपूर फिल्म 'एक लड़की को देखा तो ऐसा लगा' की शू¨टग करते रैपिड मेट्रो स्टेशन सेक्टर 55-56 पर नजर आए थे। वहीं अभिनेता आयुष्मान खुराना व सान्या मल्होत्रा की आने वाली फिल्म 'बधाई हो' में भी साइबर सिटी की झलक देखने को मिलेगी।

न सिर्फ साइबर सिटी बल्कि यहां के कलाकार भी बॉलीवुड में अपनी अलग पहचान बना रहे हैं। शहर के राजकुमार राव, शशांक अरोड़ा व आस-पास के क्षेत्रों से सतीश कौशिक और यशपाल शर्मा जैसे अभिनेता अपनी प्रतिभा से प्रदेश का मान बढ़ा रहे हैं। फिल्म नीति से शहर के रंगकर्मियों की राह भी आसान होगी।

- संजय भसीन, क्षेत्रीय निदेशक, मल्टी आर्ट कल्चरल सेंटर फिल्म नीति हरियाणवी संस्कृति व सिनेमा के लिए एक शुभ संकेत है। हरियाणवी की बॉलीवुड में एंट्री हुई है और कई फिल्मों में हरियाणवी गाने व हरियाणवी पॉप डाले जा रहे हैं, जिसे लोग खासा पसंद भी कर रहे हैं। शू¨टग के लिहाज से देखें तो साइबर सिटी की शानदार लोकेशन फिल्मकारों को लुभाती है।

- गजेंद्र फौगाट, हरियाणवी पॉप ¨सगर

Posted By: Jagran