संवाद सहयोगी, नया गुरुग्राम: नियमों को ताक में रख कर भवन निर्माण करने वालों के लिए बुरी खबर है। बृहस्पतिवार को टाउन एंड कंट्री प्ला¨नग की टास्क फोर्स की हुई बैठक में फैसला लिया गया कि गलत तरीके बनाई गई इमारतों को सील कर दिया जाए। बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त विनय प्रताप ¨सह कर रहे थे। उन्होंने निर्देश दिया कि इस माह ईडब्ल्यूएस (आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग) प्लॉट में अवैध रूप से निर्मित फ्लोर की सी¨लग की जाए। यही नहीं ईडब्ल्यूएस प्लॉट में भवन नियमों का उल्लंघन कर बनाए गए मकान का बिजली कनेक्शन काट दिया जाए। सरस्वती कुंज में बिना नक्शे पास कराए बन रहे बनाए मकानों पर कार्रवाई करने के निर्देश भी इन्फोर्समेंट टीम को दिए गए।

टाउन एंड कंट्री प्ला¨नग के सहायक नगर योजनाकार अमित मधोलिया ने बताया कि बैठक में ईडब्ल्यूएस प्लॉट में भवन निर्माण नियमों का उल्लंघन कर बनाए गए अतिरिक्त फ्लोर पर विभागीय टीम जल्द ही सी¨लग कार्रवाई शुरू करेगी। इससे पहले भी टीम ने डीएलएफ फेज चार में आधा दर्जन से अधिक मकानों में सी¨लग की है। अगले 15 दिनों के भीतर पूरी योजना तैयार कर फिर से सी¨लग अभियान शुरू किया जाएगा।

इसी प्रकार इन्फोर्समेंट टीम की तरफ से डीएलएफ फेज-3 और फेज-5 में लगभग 187 मकान मालिकों के खिलाफ ईडब्ल्यूएस श्रेणी के प्लॉटों में नियमों को उल्लंघन कर बनाए गए 7-8 मंजिला मकानों की बिजली काटने के लिए बिजली निगम को लिखित में सिफारिश की गई है। टास्क फोर्स बैठक में मौजूद डीएचबीवीएनएल के एसई केसी अग्रवाल को डीसी ने निर्देश दिया था कि जल्द से जल्द इन मकानों के बिजली कनेक्शन काटने के बाद कार्रवाई रिपोर्ट टास्क फोर्स कमेटी को सौंपे।

बैठक में गोल्फकोर्स रोड स्थित सरस्वती कुंज कालोनी में भी बिना नक्शा पास कराए बन रहे मकानों को भी सी¨लग के दायरे में लाने को कहा गया। बता दें कि सरस्वती कुंज कालोनी में अधिकतर प्लॉट पर मालिकाना हक का विवाद चल रहा है। जिसके लिए अलग से कमेटी भी बनाई हुई है। जिन प्लॉट का मालिकाना हक का विवाद सुलझ गया है केवल वह लोग ही नक्शे पास कराकर निर्माण कर सकते हैं। अभी ऐसे सैकड़ों प्लॉट है जिन पर विवाद चल रहा है। इन्फोर्समेंट टीम की सर्वे के दौरान यदि किसी भी विवादित प्लॉट पर निर्माण होता पाया गया तो उसे सील कर दिया जाएगा। प्लॉट मालिक अपने विवाद सुलझाने के बाद टाउन एंड कंट्री प्ला¨नग के डीपीटी प्ला¨नग कार्यालय से बिल्डिंग प्लान पास कराकर ही मकान का निर्माण करें।ॉ

Posted By: Jagran