जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: शीतला कॉलोनी के एक घर में नमाज पढ़े जाने को लेकर दो समुदायों में हुए विवाद के बाद बुधवार दोपहर नगर निगम की टीम ने आयुध डिपो के 900 मीटर के दायरे में अवैध निर्माणों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए जिस घर (मुस्लिम समुदाय के मुताबिक मस्जिद) में नमाज पढ़ी जाती है, उसे भी सील कर दिया। कार्रवाई के बाद मुस्लिम समुदाय में नगर निगम के खिलाफ आक्रोश है। पुलिस ने आसपास के इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया है। वहीं मुस्लिम समुदाय ने आंदोलन की चेतावनी दी है।

पिछले कुछ दिनों से शीतला कॉलोनी स्थित एक घर में नमाज पढ़े जाने को लेकर दोनों समुदायों के बीच टकराव बढ़ता जा रहा था। ¨हदू संगठनों ने घर में मस्जिद की तरह माइक लगाकर नमाज पढ़ने का आरोप लगाया था। मुस्लिम संगठनों का दावा है कि बाहर से देखने में घर दिखता है, जबकि है मस्जिद। उनकी अपनी जमीन है। अपनी जगह पर उन्हें नमाज पढ़ने से कैसे रोका जा सकता है? ¨हदू संगठनों की शिकायत व मुस्लिम संगठनों के दावे की पड़ताल की गई। पड़ताल में क्या सच्चाई सामने आई यह प्रशासन ने सार्वजनिक नहीं किया है। मुस्लिम एकता मंच के अध्यक्ष हाजी शहजाद खान ने कहा कि 900 मीटर के दायरे में हजारों अवैध निर्माण हैं। साजिश के तहत मस्जिद को सील किया गया है। मस्जिद के नजदीक ही कई नए निर्माण हैं, उन्हें क्यों नहीं सील किया गया। क्या उन्हें अपनी नमाज पढ़ने की भी इजाजत नहीं दी जाएगी? इस कार्रवाई के खिलाफ हर स्तर पर संघर्ष किया जाएगा।

------------------

इलाके में पुलिस की सक्रियता बढ़ा दी गई है। माहौल बिगाड़ने वालों के ऊपर नजर रखी जा रही है। वैसे इलाके में तनाव की स्थिति नहीं है। यदि किसी को शिकायत है तो वह प्रशासन से बात करे।

- सुमित कुमार, पुलिस उपायुक्त (पश्चिम), गुरुग्राम।

Posted By: Jagran