संवाद सहयोगी, फरुखनगर: एसवाईएल का पानी हिमाचल मार्ग से लेकर आने की मांग को लेकर एसवाईएल हिमाचल मार्ग समिति के सदस्यों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम तहसीलदार राव रणविजय ¨सह सुल्तानिया को ज्ञापन दिया है। समिति ने भाखड़ा डैम से हरियाणा तक पानी लाने के लिए शांति और सद्भाव अभियान चलाया हुआ है।

ज्ञापन में कहा है कि केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार वास्तव में एसवाईएल के पानी की समस्या का हल चाहती है तो भाखड़ा डैम से हिमाचल के रास्ते होते हुए ¨पजौर के साथ से पंचकूला के पास टांगरी नदी में पानी डालकर जनसुई हेड तक लाया जा सकता है। एडवोकेट जितेंद्रनाथ ने बताया कि उनकी एसवाईएल हिमाचल मार्ग समिति ने जो रास्ता सुझाया है, उस रास्ते में पड़ने वाली हिमाचल प्रदेश की जमीन वहां की सरकार आसानी से दे सकती है।

उन्होंने बताया कि एसवाईएल का निर्माण पंजाब के बजाय हिमाचल प्रदेश से सीधा करवाने पर प्रदेश सरकार को खर्च भी अधिक वहन नहीं करना पड़ेगा। इस रास्ते से पानी लाने पर हरियाणा के लिए 11 हजार मेगावाट बिजली के साथ राज्य की जनता को उनके हक का पानी भी मिल जाएगा। इस मौके पर सचिव विकास महता, उप सचिव कृष्ण कुमार, नरेंद्र कुमार, बलजीत समोता, फकीर चंद और बलबीर ¨सह जाखड़ मौजूद थे।

Posted By: Jagran