जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ केंद्र सरकार जीरो टॉलरेंस की नीति पर चल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आतंकवाद की जड़ को ही खत्म करने का प्रयास हो रहा है। इस दिशा में काफी सफलता मिल चुकी है। रेड्डी बुधवार को आइएमटी मानेसर स्थित राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) के नेशनल बम डाटा सेंटर में आयोजित दो दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेमिनार के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे।

रेड्डी ने कहा कि दुनिया के जितने भी देश हैं, उनके बीच आतंकवाद पर लगातार संवाद जारी रहना चाहिए। इससे कहां, क्या चल रहा है, इसकी जानकारी सामने आती रहती है। एनएसजी का अंतरराष्ट्रीय सेमिनार इस दिशा में बेहतर कदम है। आतंकवाद न केवल बहुत गंभीर समस्या है, बल्कि यह मानवता के लिए खतरा है। मानव सभ्यता के लिए भी आतंकवाद खतरा है। आर्थिक एवं सामाजिक नुकसान इससे अधिक हो रहा है।

इससे पहले एनएसजी के महानिदेशक (डीजी) अनूप कुमार सिंह ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय सेमिनार का मुख्य उद्देश्य आतंकवादी गतिविधियों को बारीकी से समझना है। कहां पर कैसे आतंकवाद फैल रहा है, वे किस मैकेनिज्म का इस्तेमाल कर रहे हैं, इस जानकारी का आदान-प्रदान करना है। आतंकी संगठन सबसे अधिक इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी) का इस्तेमाल विभिन्न तरीकों से करते हैं। आइईडी पर सेमिनार के दौरान कई विशेषज्ञ अपने विचार रखेंगे। इसके अनुरूप आगे काम होगा। हर साल नेशनल बम डाटा सेंटर में सेमिनार का आयोजन होता है। एसएसजी में आइजी मेजर जनरल आर.रवि कुमार ने भी कहा कि एनएसजी हर चुनौती का सामना करने में सक्षम है।

सेमिनार के दौरान केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी ने हथियारों की प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया। साथ ही एनएसजी की पत्रिका 'द बॉम्बशेल 2020' के नए अंक का विमोचन किया। सेमिनार में भारत के सभी अर्धसैनिक बलों के प्रतिनिधियों राज्यों की पुलिस के प्रतिनिधियों के अलावा ब्रिटेन, रूस, फ्रांस, कनाडा, टर्की, कंबोडिया, इंडोनेशिया, म्यांमार सहित कई देशों के प्रतिनिधि भी भाग लेने पहुंचे हैं।

उद्घाटन शुभारंभ समारोह में बिहार के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेय, पुदुचेरी के पुलिस महानिदेशक बालाजी श्रीवास्तव, बिहार पुलिस अकादमी के निदेशक व अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक भृगु श्रीनिवासन एवं एनएसजी के आइजी (मुख्यालय) प्रमोद फलणीकर सहित सहित कई बलों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस