जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: सदर बाजार स्थित जामा मस्जिद से जैकबपुरा अपने कमरे पर जा रहे युवक के साथ मारपीट करने के आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी है। इसके लिए सिटी थाना पुलिस एवं क्राइम ब्रांच की आठ टीमें लगाई गई हैं। सहायक पुलिस आयुक्त (सिटी) राजीव यादव का दावा है कि आरोपित की पहचान होते ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

जैकबपुरा में किराये पर रहने वाले मूल रूप से बिहार के बेगूसराय जिले के गांव हसनपुर निवासी मोहम्मद बरकत आलम की शिकायत है कि शनिवार रात जामा मस्जिद के नजदीक एक समुदाय के युवक ने कहा कि टोपी पहनकर कहां जा रहा है। इसके बाद उनके साथ मारपीट शुरू कर दी गई।

शिकायतकर्ता का यह भी आरोप है कि मारपीट के दौरान तीन से चार युवक थे लेकिन जब नजदीक एक दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखा गया तो एक युवक के साथ ही उसकी लड़ाई हुई थी। नजदीक तीन-चार लोग थे जिन्होंने दोनों को अलग-अलग किया। इसके बाद आरोपित चला गया लेकिन शिकायतकर्ता वहीं पर रहा और अपने जानकारों को सूचना दे दी कि कुछ लोगों ने उनके साथ मारपीट की है। ऐसी स्थिति में सच्चाई आरोपित की गिरफ्तारी के बाद ही सामने आएगी।

इधर, सूत्र बताते हैं कि इस मामले को कुछ लोग सांप्रदायिक रंग देने का प्रयास कर रहे हैं। नाम न छापने की शर्त पर कुछ लोगों का कहना है कि एक शराब के नशे में धुत युवक की शिकायतकर्ता के साथ धक्का-मुक्की भर हुई। आसपास के लोगों द्वारा समझाने पर आरोपित चला गया था। वह फिर लौटकर भी नहीं आया। ऐसी स्थिति में मामले को सांप्रदायिक रंग देना कहां तक उचित है? जो लोग भी सांप्रदायिक रंग देने का प्रयास कर रहे हैं, उनसे सख्ती से निबटा जाए ताकि कोई सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने की हिम्मत न करे। सीसीटीवी कैमरों से साफ दिख रहा है कि एक ही युवक के साथ शिकायतकर्ता की लड़ाई हुई। पूरी सचाई आरोपित की गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में सामने आएगी। इस मामले को गलत दिशा में ले जाना उचित नहीं। यह केवल दो युवकों के बीच का मामला है, न ही किसी धर्म या जाति के बीच का मामला।

- राजीव यादव, सहायक पुलिस आयुक्त (सिटी), गुरुग्राम

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस