जागरण संवाददाता, गुरुग्राम : तेलंगाना के साइबराबाद से जुड़े दो हजार करोड़ रुपये की धांधली के मामले में आरोपित कंपनी के सीएमडी राधेश्याम नरेश शर्मा को तेलंगाना पुलिस ने एसटीएफ एवं सदर थाना पुलिस की मदद से शुक्रवार को गुरुग्राम से गिरफ्तार कर लिया। आरोपित की गिरफ्तारी सदर थानांतर्गत सेंट्रल पार्क स्थित उसके निवास से की गई। गिरफ्तारी के बाद उसे अदालत में पेश किया, जहां ट्रांजिट रिमांड पर तेलंगाना पुलिस लेकर चली गई।

शिकायत के मुताबिक आरोपित की हिसार में एफएमएलसी प्राइवेट लिमिटेड नाम से विज्ञापन कंपनी है। कंपनी ने पिछले दिनों तेलंगाना के साइबराबाद में विज्ञापन के नाम पर वहां की एक एजेंसी के साथ दो हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की। मामले में 30 अगस्त को साइबराबाद के कुकटपल्ली थाने में मामला दर्ज कराया गया था। मामले में तेलंगाना पुलिस ने तीन दिन पहले एसटीएफ हरियाणा से आरोपित की गिरफ्तारी में सहयोग मांगा था। इस बीच सूचना मिली कि आरोपित इस समय गुरुग्राम स्थित अपने आवास में रह रहा है। इसके बाद एसटीएफ ने सदर थाना पुलिस के सहयोग से घेराबंदी की और आरोपित को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया।

एसटीएफ के डीआइजी सतीश बालन ने बताया कि आरोपित की गिरफ्तारी देश में प्रतिबंधित प्राइस चिट्स एंड मनी सर्कुलेशन स्कीम (पीसीएमसीएस) के साथ ही धोखाधड़ी के मामले में की गई है। तेलंगाना पुलिस द्वारा सहयोग मांगने के बाद से ही एसटीएफ की एक टीम पीछे लगी हुई थी। जैसे ही सूचना मिली कि वह अपने घर में है। मौके पर टीम भेजकर स्थानीय पुलिस के सहयोग से गिरफ्तार कर लिया गया।

Posted By: Jagran