जागरण संवाददाता, गुरुग्राम : जेबीटी कोर्स (जूनियर बेसिक ट्रे¨नग) में फीस वृद्धि कर दी गई है। फीस वृद्धि को लेकर हरियाणा विद्यालय अध्यापक संघ ने विरोध किया है। संघ के राज्य उपप्रधान सत्यनारायण यादव व जिला प्रधान सुभाष यादव ने बताया कि हरियाणा सरकार ने जेबीटी कोर्स को लेकर फैसला लिया है कि यह कोर्स केवल निजी शिक्षण संस्थान द्वारा किया जाएगा। इस कोर्स के लिए डाइट (जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण परिषद) में कुछ ही सीटों पर दाखिले दिए जाएंगे। अब केवल 400 सरकारी डाइट की सीटों पर ही दाखिला हो रहा है, इसके विपरीत निजी संस्थानों में अधिक दाखिले हो रहे हैं।

सत्यनारायण यादव ने बताया कि सरकारी डाइट में कोर्स के लिए हरियाणा सरकार ने फीस बढ़ा दी है। ऐसे में कमजोर तबके के विद्यार्थियों को कोर्स में दाखिला लेने के लिए परेशानी आ रही हैं। अध्यापक संघ सरकार के इस फैसले का विरोध करते हुए मांग करता है कि डीएलएड के छात्रों -छात्राओं से पुरानी पद्धति के तहत ही फीस ली जाए। उन्होंने कहा कि जेबीटी सत्र 2018-20 के दाखिले चार सितंबर से शुरू हो चुके हैं और बहुत से छात्र जिनको सरकारी डाइट में सीट मिली वे पुरानी फीस देकर दाखिले ले चुके हैं, लेकिन मंगलवार दोपहर बाद निदेशक एससीईआरटी (राज्य शैक्षणिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद) द्वारा फीस वृद्धि का पत्र जारी कर दिया गया है। ऐसे में विद्यार्थी काफी परेशान हैं।

Posted By: Jagran