जागरण संवाददाता, फिरोजपुर झिरका (नूंह): पिछले 20 दिनों से अरावली श्रृंखला की पहाड़ियों से सटे गांवों में तेंदुए की दहशत बरकरार है। रविवार रात भी माहोली गांव के जंगलों में तेंदुआ देखा गया। इससे ग्रामीणों में दहशत फैल गई। जंगल में तेंदुआ दिखाई देने के बाद ग्रामीणों ने अपने पशुओं की पहरेदारी कर रात गुजारी।

बता दें कि तीन माह पहले फिरोजपुर झिरका के तिजारा मार्ग स्थित अरावली क्षेत्र में दो शावकों के साथ दो तेंदुए देखे गए थे। अब इनमें से एक मादा तेंदुए को दो शावकों के साथ अरावली से सटे गांव माहोली, ¨सधरवाट, हसनपुर-बिलोंडा, ढाढोली में पिछले कई दिनों से देखा जा रहा है।

अब एक बार फिर माहोली गांव के खेतों में तेंदुआ नजर आया। ग्रामीण रूस्तम खां, लियाकत डेमरोत, मौसम खान आदि ने बताया कि रविवार की रात तेंदुआ गांव के खेतों में घुस आया। इससे ग्रामीणों में दहशत फैल गई। लोगों ने वन विभाग से इन्हें पकड़ने की मांग की है। हालांकि बीते दिनों वन्य प्राणी विभाग की टीम इन गांवों में तेंदुए को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेशन चला चुकी है, मगर यहां टीम को तेंदुआ हाथ नहीं लगा। हालांकि टीम को सर्च ऑपरेशन के दौरान तेंदुआ व उसके शावकों के पैरों के निशान मिले थे। वहीं वन राजिक अधिकारी सफीउर रहमान ने बताया कि जरूरत पड़ी तो फिर से सर्च अभियान चलाकर तेंदुए को पकड़ने की योजना बनाई जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप