संवाद सहयोगी, पटौदी: पटौदी के गांव पहाड़ी में आयोजित सैनिक मिलन समारोह में पूर्व सैनिकों ने अपनी समस्याएं साझा कीं। एकता पर बल देते हुए विभिन्न अधिकारियों ने पूर्व सैनिकों को सम्मान न दिए जाने पर अपना रोष जताया। सम्मेलन में मुख्य अतिथि टेसवा (ट्राई एक्स-सर्विसमैन एसोसिएशन) के उत्तर भारत के अध्यक्ष कर्नल (रिटा.) अजीत सिंह राणा व विशिष्ट अतिथि विश्व हिदू परिषद के जिलाध्यक्ष अजीत सिंह यादव रहे।

अजीत सिंह यादव ने अपने संबोधन में कहा कि सैनिकों की बदौलत ही देशवासी चैन की नींद सोते हैं। सैनिक अपनी जान हथेली पर रखकर देश की रक्षा करते हैं। इसलिए समाज के हर वर्ग को उन्हें पूरा सम्मान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को पूर्व सैनिकों का खड़े होकर स्वागत करना चाहिए व यह सुनिश्चित करना चाहिए कि पूर्व सैनिकों के जायज कार्य समय पर हों।

कर्नल (रिटा.) अजीत सिंह राणा ने पूर्व सैनिकों को विभिन्न नियमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि यदि किसी भी पूर्व सैनिक को कोई समस्या है तो वह बताएं, उनका संगठन मदद को हमेशा तैयार है। हरियाणा पूर्व सैनिक संघ के जिलाध्यक्ष कप्तान कंवर सिंह व टेसवा के जिलाध्यक्ष राजेंद्र यादव ने मांग की है कि सरकार खराब पड़े सीएसडी कैंटीन के रास्ते को ठीक करवाए और सैनिकों की खान पटौदी क्षेत्र में ईसीएचसी डिस्पेंसरी प्रारंभ करें।

आयोजन में लोकरा निवासी 99 वर्षीय पूर्व सैनिक छंगा राम सहित गुरुग्राम, रेवाड़ी, नूंह व झज्जर जिले के दस 90 वर्ष से अधिक के दिव्यांग पूर्व सैनिकों का सम्मानित भी किया। इस अवसर पर एडवोकेट सुधीर मुदगिल, पूर्व सरपंच भरत सिंह, सेवानिवृत सूबेदार लालचंद आर्य, सेवानिवृत सूबेदार सीताराम ने भी अपने विचार रखे तथा सेवानिवृत कप्तान जनक सिंह, सेवानिवृत्त कप्तान जगरूप, सतपाल चौहान, शेर सिंह, हरि सिंह, सीताराम, लालचंद,भारत सिंह, बलबीर सिंह उपस्थित थे।

Edited By: Jagran