जागरण संवाददाता, गुरुग्राम: किसान आंदोलन को देखते हुए रविवार दोपहर तीन बजे से गुरुग्राम पुलिस हाई अलर्ट मोड पर आ गई है। सीमावर्ती इलाकों के साथ ही जिले में 40 स्थानों पर नाके लगाए गए हैं। यह नाके 26 जनवरी तक 24 घंटे लगे रहेंगे। रोटेशन के आधार पर अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों की ड्यूटी निर्धारित कर दी गई है। सभी सहायक पुलिस आयुक्त एवं पुलिस उपायुक्त अपने-अपने इलाके में रोटेशन के आधार पर राउंड मारते रहेंगे।

कृषि कानूनों को लेकर किसान आंदोलन कर रहे हैं। 26 जनवरी को वे ट्रैक्टर मार्च निकालने वाले हैं। इसे देखते हुए एक साथ दोनों पर यानी किसान आंदोलन एवं गणतंत्र दिवस समारोह के ऊपर पुलिस को नजर रखनी पड़ रही है। यही नहीं दिल्ली के नजदीक होने की वजह से भी अधिक सक्रियता दिखानी पड़ रह रही है। किसी भी स्थिति से निपटने के लिए चार हजार पुलिसकर्मियों की जिम्मेदारी तय की गई है। सबसे अधिक पुलिसकर्मी मानेसर घाटी में तैनात किए गए हैं ताकि किसानों का जत्था यदि रेवाड़ी, पलवल या मेवात इलाके से पहुंच जाए तो उन्हें रोका जा सके। सहायक पुलिस आयुक्त (ट्रैफिक) संजीव बल्हारा को मानेसर घाटी में मोर्चा संभालने के लिए लगाया गया है। सहायक पुलिस आयुक्त (मानेसर) हितेश यादव को बिलासपुर से लेकर कापड़ीवास बार्डर इलाके में तैनात किया गया है। सहायक पुलिस आयुक्त (उद्योग) एवं सहायक पुलिस आयुक्त (डीएलएफ) करण गोयल को कापसहेड़ा बार्डर, सिरहौल बार्डर, आया नगर बार्डर इलाके के ऊपर नजर रखने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसी तरह अन्य सहायक पुलिस आयुक्तों की भी जिम्मेदारी तय की गई है। मानेसर घाटी में गुरुग्राम पुलिस के साथ ही आइटीबीपी ने मोर्चा संभाल रखा है। भीड़भाड़ वाल इलाकों में सादे लिबास में पुलिस तैनात: सदर बाजार सहित सभी भीड़भाड़ वाले इलाकों में वर्दी व सादे लिबास में भी पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है। मेट्रो स्टेशनों, रेलवे स्टेशनों, बस अड्डा एवं माल के आसपास पुलिस की सक्रियता बढ़ा दी गई है। रेलवे स्टेशन पर जीआरपी थाना पुलिस पिछले दो दिनों से लगातार अभियान चला रही है। एक-एक पैसेंजर के ऊपर नजर रख रही है। थाना प्रभारी भूपेंद्र सिंह ने बताया कि किसान आंदोलन एवं गणतंत्र दिवस समारोह दोनों को ध्यान में रखकर सक्रियता बढ़ा दी गई है। लोगों से अपील की जा रही है कि यदि कोई संदिग्ध दिखाई दे तो पुलिस को सूचना दें। भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक: गणतंत्र समारोह को देखते हुए दिल्ली में गुरुग्राम सीमा से भारी वाहनों के प्रवेश पर रविवार दोपहर तीन बजे से रोक लगा दी गई है। यह रोक 26 जनवरी दोपहर डेढ़ बजे तक रहेगी। ट्रांसपोर्टरों से अपील की गई है कि वे भारी वाहन लेकर दिल्ली की तरफ न जाएं। भारी वाहन दिल्ली सीमा में प्रवेश न करें, इसे लेकर सिरहौल बार्डर पर ट्रैफिक पुलिसकर्मियों की सक्रियता बढ़ा दी गई है। किसान आंदोलन एवं गणतंत्र दिवस समारोह को देखते हुए गुरुग्राम पुलिस हर स्तर पर सक्रिय है। संदिग्धों के ऊपर विशेष रूप से नजर रखी जा रही है। होटलों एवं गेस्ट हाउसों की जांच की जा रही है। किसानों से अपील है कि वे गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर मार्च न निकालें।

-केके राव, पुलिस आयुक्त, गुरुग्राम

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप