जासं, गुड़गांव: शिक्षण संस्था वेब ज्योति ने गरीब बच्चों को मुफ्त में आइटी की शिक्षा देने का काम करने जा रही है। इसके तहत संस्था बच्चों को वेबसाइट बनाना, सोशल मीडिया और आइटी से संबंधित जानकारी सिखाएगी। जिससे उनको भविष्य में रोजगार मिलने में सहायता हो। इसकी जानकारी देते हुए वेब ज्योति के संस्थापक हिरदेश भारद्वाज ने बताया कि इसके तहत कई एनजीओ के संपर्क में हैं, जिससे जरूरतमंद लोगों तक पहुंच पाएं। यह कोर्स फुल टाइम और पार्ट टाइम दोनों में उपलब्ध है। भारद्वाज ने हाल ही में पीएचपी पर एक किताब भी लिखी है, जो आइटी जगत के लोगों में काफी लोकप्रिय रही। यह किताब भारत की पहली ऐसी किताब है, जो किसी भारतीय द्वारा लिखी गई है। अभी तक पीएचपी पर विदेशी लेखकों द्वारा ही किताबें लिखी जाती रहीं हैं। भारद्वाज के नाम कई सारे रिकॉर्ड भी दर्ज हैं। मात्र 22 साल के उम्र में ही उन्होंने 4000 कमजोर तबके के बच्चों को आइटी के बारे में जानकारी दी थी। ओरेकल ने अपने पत्रिका में इनको जगह दे कर सम्मानित भी किया था। भारद्वाज ने बताया की उनकी संस्था में विदेशी बच्चे भी पढ़ने आते हैं। मेरा अनुभव इन गरीब बच्चों के काम आ जाए इससे ज्यादा खुशी नहीं हो सकती।