संवाद सहयोगी, फिरोजपुर झिरका :

कोरोना महामारी के बीच ड्यूटी से नदारद रहने और लापरवाही बरतने के मामले में फिरोजपुर झिरका खंड में तैनात 14 बीएलओ के खिलाफ कार्रवाई की गई है। इनके खिलाफ खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी द्वारा मुकदमा दर्ज करवाया गया है। पुलिस ने बीडीपीओ की शिकायत पर सभी बीएलओ पर आईपीसी की धारा 188 व प्राकृतिक आपदा महामारी एक्ट की धारा 56 तथा एपीडेमिक डाइसिस एक्ट की धारा 4 के तहत मुकदमा दर्ज कर पड़ताल तेज कर दी है।

खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी मोहन लाल ने पुलिस को बताया कि कोविड-19 में जिला मजिस्ट्रेट के आदेशानुसार फिरोजपुर झिरका खंड में 28 अप्रैल से सर्वे हेतु बीएलओ की ड्यूटी लगाई गई थी। पर संज्ञान लेने पर पता चला कि खंड के करीब 14 बीएलओ कई दिनों से ड्यूटी से नदारद हैं। अधिकारी ने अपने स्तर पर जांच की तो पाया कि गांव साकरस, कामेंडा, बघोला, खेड़लीकलां, मोहम्मदबास बुचाका और शेखपुर, बुबलहेड़ी व झारपुरी, नीमखेड़ा तथा गोकलपुर, बड़ेड, बसईमेव, घाटा शमशाबाद में तैनात बीएलओ अपनी ड्यूटी पर नहीं आ रहे हैं। इसके बाद सभी बीएलओ पर ऊपरी अधिकारियों के आदेशानुसार कार्रवाई की बात कही गई। पुलिस ने बीडीपीओ मोहन लाल की शिकायत पर सभी बीएलओ पर कार्रवाई करते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया। दूसरी ओर पता चला है कि आरोपित सभी बीएलओ बाहरी जिलों के रहने वाले हैं। इन लोगों ने रेड जोन घोषित हुए मेवात की वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए ड्यूटी पर आने से मना कर दिया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस