संवाद सूत्र, कुलां :

धारसूल अनाज मंडी में गेहूं खरीद कार्य प्रशासन व खरीद एजेंसी द्वारा बुधवार को आरंभ किया गया। परंतु बारदाना नहीं होने से आढ़तियों को गेहूं की बोली करवाने में दिक्कत आ रही है। मंडी आढ़तियों का कहना है कि एजेंसियों द्वारा हालांकि खरीद तो शुरू करवा दी है। अब जिन आढ़तियों के पास किसान फसल लेकर पहुंच रहे हैं। वह उसकी समय पर बोली नहीं करवा सकते। आढ़तियों के अनुसार एजेंसी अधिकारियों का तर्क है कि पहले बोली शुरू करें बाद में बारदाना उपलब्ध करवा दिया जाएगा। ऐसा करने पर आढ़तियों व किसानों को परेशानी हो रही है। मंडी में हजारों क्विंटल गेहूं पहुंच चुकी है। जबकि बुधवार को खरीद के प्रथम दिन नाममात्र खरीद ही हो सकी है। इसे लेकर मंडी में फसल बेचने आए किसानों द्वारा भी रोष जताया गया है। किसानों का कहना है कि वह दो दिन से मंडी में फसल लेकर बैठे है। जबकि बुधवार को भी फसल खरीद नहीं हो सकी है। ऐसे में उन्हें आगे भी इंतजार करना पड़ सकता है। क्योंकि बोली होने उपरांत पहले एजेंसियों से बारदाना लाना पड़ेगा और इसके बाद गेहूं बैग में भरा जायेगा और फिर लदान किया जायेगा। आढ़तियों का कहना है यदि बारदाना पहले उपलब्ध होता तो वह पहले ही गेहूं बोरियों में भराव करवा लेंगे। ऐसे में बोली होने के तत्काल बाद ही इसका लदान करवा दिया जायेगा। इससे किसान व आढ़ती दोनों का समय बचेगा।

अधिकारियों की उपेक्षा बनी परेशानी का सबब

अनाज मंडियों में खरीद शुरू होने से पूर्व ही आधे से अधिक बारदाना पहुंच जाता है। जबकि इस बार धारसूल मंडी में अधिकारियों की उपेक्षा से अभी तक बारदाना नहीं पहुंचा है। जिससे आढ़ती व किसानों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है।

मंडी में बन सकती है जाम की स्थिति

मंडी आढ़तियों के मुताबिक अधिकारियों की इस उपेक्षा से मंडी में जाम की स्थिति से लोगों को दो चार होना पड़ सकता है। यदि फसल आते ही बोली करवा इसका उठान कर दिया जाए तो इससे राहत रहेगी। यदि एक दो दिनों तक ऐसा ही माहौल रहा तो मंडी पूरी तरह से गेहूं से लबालब हो जायेगी। वहीं किसानों को भी फसल बेचने के इंतजार में बेवजह समस्या झेलनी पड़ेगी।

------------------------किसन बोले-नहीं हुआ हल तो करेंगे प्रदर्शन

धारसूल मंडी में फसल लेकर आये किसानों ने बताया कि वह दो दिन से यहां डेरा डाले बैठे है। जबकि अभी तक फसल खरीद नहीं हुई है। किसानों के मुताबिक यदि जल्द उनकी फसल खरीद नहीं हुई तो वह प्रदर्शन को बाध्य होंगे।

-----------------------

बारिश के चलते देरी हुईं है। आज ही इसके बारे में बात करते है और जल्द ही बारदाना उपलब्ध करवा दिया जायेगा। मंडी में आढ़ती व किसानों को किसी तरह की समस्या नहीं आने दी जायेगी।

यशपाल मेहता, सचिव मार्केट कमेटी धारसूल

Posted By: Jagran