संवाद सहयोगी, टोहाना :

कोरोना काल के चलते 11 माह पहले बंद हुई रेलगाड़ियों के शुरु ना होने से टोहाना क्षेत्रवासी बेहद परेशान है। जिसके चलते उन्हें आसपास व दूरदराज के शहरों में जाने के लिए निजी वाहनों का सहारा लेना पड़ रहा है। सरकार द्वारा सभी रूटों पर बस सेवाएं बहाल कर देने के बावजूद फिरोजपुर-दिल्ली रेल मार्ग पर चलने वाली रेलगाड़ियां जनता एक्सप्रेस, गंगानगर-हावड़ा, दिल्ली-फिरोजपुर आदि के शुरू ना होने से आमजन परेशान है। जबकि मौजूदा समय में दिन के समय पुरानी दिल्ली से श्रीगंगानगर को जाने व आने वाली इंटरसिटी का ठहराव टोहाना के रेलवे स्टेशन पर न होने के कारण यात्रियों को या तो नरवाना उतरना पड़ता है या फिर जाखल रेलवे स्टेशन पर उतरकर टोहाना आना पड़ता है। जिसके कारण जहां रूपये अधिक वहन करने पड़ते है। वहीं समय भी बर्बाद होता है। यदि इस गाड़ी का ठहराव टोहाना के रेलवे स्टेशन पर हो जाता है तो इससे टोहाना क्षेत्रवासियों को राहत मिलेगी। जबकि कांग्रेस सरकार में तत्कालीन सांसद अशोक तंवर के प्रयासों से टोहाना वासियों को अवध-असम एक्सप्रेस सहित दिल्ली से लुधियाना, मोगा को जाने व आने वाली शताब्दी एक्सप्रेस रेलगाड़ी का ठहराव कर टोहाना क्षेत्रवासियों को सुविधा प्रदान की गई थी। मौजूदा समय में इस रेल मार्ग पर चलने शताब्दी एक्सप्रेस सहित अन्य गाडिय़ां बंद हैं। भाजपा से पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एवं हरियाणा सार्वजनिक उपक्रम ब्यूरों के चेयरमैन सुभाष बराला, जजपा के प्रदेशाध्यक्ष निशान सिंह व जजपा के विधायक देवेंद्र सिंह बबली के सरकार में हिस्सेदारी होने के बावजूद भी टोहाना का रेलवे स्टेशन इन दिनों सूना दिखाई दे रहा है।

-----------

इन समस्याओं को लेकर वह कई बार रेल मंत्री को भी टवीट कर चुके हे, लेकिन इस रेल मार्ग पर गाडिय़ा नहीं चलाई जा रही है। जबकि अन्य रूटों पर रेलवे विभाग विशेष गाडि़यां चला रहा है। टोहाना क्षेत्र के लगभग 400 यात्रियों का रोजगार इन्हीं रेल सेवा से जुड़ा हुआ था। गाडि़यां ना चलने से अनेक लोग बेरोजगार हो चुके हैं। पूर्व विधायक सुभाष बराला और सिरसा लोकसभा क्षेत्र की सांसद सुनीता दुग्गल से भी गाडि़यों चलवाने की मांग की थी।

- राजेश नागपाल, रेल यात्री संघ, टोहाना।

Edited By: Jagran