संवाद सूत्र, रतिया :

जीवन अनमोल है। स्वयं की रक्षा करना और दूसरे की सुरक्षा भी हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। रोड सेफ्टी संबंधी कार्यों में ढिलाई व कोताही बरतने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। यह बात एसडीएम डा किरण सिंह ने शुक्रवार को कार्यालय में सड़क सुरक्षा एवं सुरक्षित वाहन पॉलिसी के तहत आयोजित अधिकारियों के बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए हरियाणा विजन जीरो के तहत अधिकारी और ज्यादा मजबूती तथा मुस्तैदी के साथ काम करे। उन्होंने सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों तथा अधिकारियों से कहा कि सुरक्षित वाहन के बारे अधिक से अधिक जनता में जागरूकता फैलाए। डा. किरण सिंह ने कहा कि हमें इस मिशन को जीरो दुर्घटना तक लेकर जाना है। इसके लिए पुलिस, आरटीए विभाग, सड़क सुरक्षा के संबंध में गठित कमेटी सहित रोड सेफ्टी से जुड़े अधिकारी भी लोगों में जागरूकता फैलाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे राजमार्ग व रतिया से भूना, रतिया से टोहाना आदि स्थानों एवं रास्तों में मार्किंग करे ताकि चालकों को चिह्न स्पष्ट दिखाए दें। जहां भी डबल व ट्रिपल स्पीड ब्रेकर बने हैं, वहां पर सिगल स्पीड ब्रेकर बनाए जाए। डा. किरण सिंह ने कनिष्ठ अभियंता लोक निर्माण विभाग भवन व प्रबंधक अधिकारी को निर्देश दिए कि सड़क पर रिफ्लेक्टर पट्टी या जेब्रा क्रॉसिग करवाने का उचित प्रबंध किया जाए। इस अवसर पर खंड शिक्षा अधिकारी लक्ष्मीकांत, एसडीओ आरके मेहता, रणजीत सिंह, परिवहन विभाग से सतबीर सिंह, अमन, एसआइ हेतराम, राजकुमार, जनकराज गोयल, तकदीर सिंह, आदि उपस्थित थे।

Posted By: Jagran