मांगों को लेकर 27 को काला दिवस मनाएंगी आंगनबाड़ी वर्कर्स

जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

हरियाणा सरकार की हठधर्मिता को देखते हुए आंगनबाड़ी की हड़ताल पांच

फरवरी तक बढ़ा दी गई है। आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर्स ने आज भी हड़ताल जारी रखते हुए उपायुक्त कार्यालय पर धरना दिया। आज 48वें दिन धरने की

अध्यक्षता आंगनबाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर्स यूनियन की जिला प्रधान सुनीता झलनियां ने की व संचालन माया पूनिया ने की। धरने में सर्व कर्मचारी संघ के पूर्व जिला प्रधान एवं सीटू नेता बेगराज, सर्व कर्मचारी संघ के नेता राजपाल मिताथल, इंद्र सिंह घासी, सीटू के जिला सचिव ओमप्रकाश अनेजा सहित अनेक नेताओं ने संबोधित किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार आंगनवाड़ी वर्कर्स एवं हेल्पर्स की मांगों के प्रति हठधर्मिता अपनाए हुए हैं और अपनी कही बात से भी मुकर रही है। डेढ़ महीने से ज्यादा हरियाणा की 40 हजार आंगनबाड़ी वर्कर्स आंदोलनरत हैं लेकिन हरियाणा की सरकार जानबूझकर आंदोलन को लंबा खींचना चाहती है तथा राजसत्ता के बल पर महिला वर्करों को डरा कर नौकरी से

बर्खास्त कर तथा झूठे मुकदमे बनाकर आंदोलन को खत्म करना चाहती हैं लेकिन अबकी बार ऐसा नहीं होने देंगे। जब तक सरकार सम्मानजनक तरीके से बातचीत द्वारा समस्याओं का समाधान नहीं करती, आंदोलन जारी रहेगा और भविष्य में आंदोलन को तेज किया जाएगा।

आंदोलन में अब गांवों व शहर में जनता के बीच

जाकर सरकार की जनविरोधी नीतियों का पर्दाफाश किया जाएगा। सरकार की शव यात्रा निकाली जाएगी। कर्मचारी, मजदूर, किसान, महिला व अन्य सामाजिक संगठनों व आम जनता से हड़ताल के समर्थन की अपील की जाएग वहीं विपक्षी पार्टियों से तालमेल कमेटी का प्रतिनिधिमंडल मिलेगा। एक दिन वर्कर्स और हेल्पर्स अपने परिवार के सदस्यों के साथ सड़कों पर उतरेगी और विभाग के कार्यों का बहिष्कार जारी रहेगा। 26 जनवरी को तिरंगा लेकर आंदोलन होगा और

आजादी के आंदोलन के नेताओं की प्रतिमाओं पर पुष्प अर्पित किए जाएंगे। 27 जनवरी को काले चुनरी व झंडों के साथ काला दिवस मनाया जाएगा।

Edited By: Jagran