जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

चुनाव एवं कानून व्ययवस्था के मद्देनजर तथा आपातकालीन परिस्थितियों से निपटने के लिए सोमवार को जिला पुलिस ने दंगारोधी वाहन वज्र योद्धा के साथ अभ्यास किया। ये अभ्यास हिसार रोड स्थित पुलिस लाइन के ग्राउंड में किया गया है। इस मौके पर पुलिस अधीक्षक विजय प्रताप सिंह ने पुलिस कर्मचारियों के साथ वज्र वाहन योद्धा के साथ अभ्यास किया। वज्र योद्धा पर लगे सात गन प्वाइंट में से इलेक्ट्रिक तकनीक से आंसू गैस के गोले अभ्यास के तौर पर चलाए गए। मौके पर मौजूद पुलिस कर्मचरियों व अधिकारियों ने जानकारी हासिल की। पुलिस अधीक्षक विजय प्रताप सिंह ने बताया की इस का उपयोग अनियंत्रित भीड़ को नियंत्रित करने के उद्?देश्य से किया जाता है। ज्यादातर इसका प्रयोग पुलिस के द्वारा ही किया जाता है। बेकाबू भीड़ को काबू करने में आंसू गैस महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इस मौके पर उप पुलिस अधीक्षक धर्मबीर पूनिया, रतिया सदर थाना प्रभारी कपिल सिहाग, इंस्पेक्टर रमेश कुमार, लाईन अफसर इन्द्रपाल सिंह व सैकड़ों की संख्या में पुलिस कर्मचारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस