जागरण संवाददाता, फतेहाबाद: सिरसा के फिजियोथरेपिस्ट कुलदीप को हनीट्रैप के जाल में फंसाने के मामले में गिरफ्तार किए गए मुख्य आरोपित महिला व उसके साथ हंस कालोनी निवासी सुभाष को शहर पुलिस ने कोर्ट में पेश किया। यहां से दोनों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पूछताछ में सामने आया है कि महिला हिसार में 420 के एक मामले में कोर्ट से भगौड़ा घोषित हो चुकी है। शहर पुलिस ने इस मामले में हिसार पुलिस को सूचना दे दी है। मामले में शामिल अन्य तीन आरोपितों की अभी तक गिरफ्तारी नहीं हुई है।

मामले के अनुसार दो दिन पूर्व सिरसा के सुलतानपुरिया निवासी कुलदीप ने बताया कि वह फिजियोथरेपिस्ट है। उसके मोबाइल पर मिस कॉल आई थी। जब फोन किया तो महिला ने बात की। बातों में फंसाकर महिला ने फतेहाबाद के रामनिवास मोहल्ला में बुला लिया। यहां पर उसे बेड पर लिटाकर वीडियो बना ली और बाद में दो महिलाएं और दो युवक आए। जिन्होंने 18 हजार व दो मोबाइल छीन लिए थे। इसके बाद दो लाख रुपये की मांग की गई। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। पीड़ित जब 70 हजार रुपये देने के लिए गया तो पुलिस ने दबिश कर मुख्य आरोपित महिला व उसके साथी को काबू कर लिया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस