संवाद सहयोगी, टोहाना :

स्वास्थ्य विभाग ने बढ़ते कोरोना के मामलों को लेकर कोरोना सैंपलिग बढ़ा दी है। जिसके चलते स्वास्थ्य विभाग की तीन टीमें नागरिक अस्पताल सहित शहरी क्षेत्र में लोगों के कोरोना सैंपल लेकर जांच के लिए भेज रही है।

बताया जाता है कि प्रतिदिन लगभग तीन सौ से चार सौ की संख्या में सैंपलिग की जा रही है। जिसमें 10 फीसद लोग कोरोना पॉजिटिव आ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जहां नागरिक अस्पताल में पहला व दूसरा टीकाकरण किया जा रहा है। वहीं 18 वर्ष से ऊपर आयु के लोगों का भी पंजीकरण के उपरांत टीकाकरण किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग ने रविवार का दिन छुट्टी का होने के बावजूद नागरिक अस्पताल में कोरोना सैंपलिग व कोरोना टीकाकरण का कार्य जारी रखा। यहां तक कि शहर व सदर थाना के पुलिस कर्मचारियों ने विभिन्न मामलों में गिरफ्तार किये गये आरोपितों के भी कोरोना सैंपल करवाये।

एसएमओ डा. हरविद्र सागु ने बताया कि कोरोना टीकाकरण का कार्य जोरशोर से जारी है। पहला टीका लगवाने के उपरांत भी टीकाधारक को मास्क का प्रयोग व शारीरिक दूरी की पालना करनी बहुत जरूरी है।

उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर पहले से ज्यादा खतरनाक है, इसलिए सभी लॉकडाउन की पालना करते हुए अपने घरों में ही रहे। उन्होंने आमजन से अपील की कि यदि किसी व्यक्ति की अचानक मौत हो जाती है तो उसके सैंपल भी कोरोना जांच के लिए भेजने चाहिये, ताकि कोरोना के लक्षण पाये जाने पर अन्य परिवारजनों का भी बचाव किया जा सके। स्वास्थ्य विभाग की ओर से 18 से 44 वर्ष के सभी लाभार्थियों के टीकाकरण के लिए हिदायतें जारी

जागरण संवाददाता, फतेहाबाद

उपायुक्त डॉ. नरहरि सिंह बांगड़ ने नागरिकों से आग्रह किया है कि वे सरकार व स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव व रोकथाम के लिए समय-समय पर जारी हिदायतों का पालन अवश्य करें। कोविड-19 संक्रमण से नागरिक स्वयं बचें और दूसरों को बचाने में अपना अपेक्षित सहयोग दें।

उपायुक्त ने बताया कि जिला में स्वास्थ्य विभाग ने 18 से 44 वर्ष के सभी लाभार्थियों को कोविड संक्रमण से बचाव के लिए लगाए जा रहे वैक्सीनेशन को लेकर दिशा निर्देश व हिदायतें जारी की है। उन्होंने बताया कि 18 से 44 वर्ष के व्यक्ति वैक्सीनेशन के लिए अपना रजिस्ट्रेशन आरोग्य सेतू एप पर न करके सेल्फरजिस्ट्रेशन डॉट कोविन डॉट जीओवी डॉट आइएन की वेबसाइट पर करने के पश्चात अप्वाइंटमेंट फिक्स करके ही संस्था/टीकाकरण साइट पर आएं।

उपायुक्त ने बताया कि डिस्ट्रिक्ट आईटी टीम द्वारा जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. सुनीता सोखी की निगरानी में सेशन की शैड्यूलिग 3-5 बजे के दौरान की जाती है। 18 से 44 वर्ष के सभी लाभार्थियों को केंद्र सरकार के निर्देशानुसार सेल्फ रजिस्ट्रेशन व अप्वाइंटमेंट फिक्स करने बाद ही टीका लगेगा। इसके अलावा 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का रजिस्ट्रेशन संस्था/टीकाकरण साइट पर मौके पर किया जाएगा। उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए अपनी पहली डोज ले चुके सभी लाभार्थियों से कहा है कि वे अपना कोवैक्सीन का दूसरा टीका 4 से 6 सप्ताह व कोविशील्ड का दूसरा टीका 6 से 8 सप्ताह के बाद लगवाना सुनिश्चित करें।