जागरण संवाददाता, फतेहाबाद :

ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट सहयोग व सराहनीय कार्य करने वाले बड़े एवं छोटे उद्योगों, सरकारी व अर्धसरकारी भवनों, नगरपालिका के तहत स्टार रेटिग भवनों तथा व्यक्तिगत श्रेणी में लाखों रुपये के पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे। इसके लिए अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय में निर्धारित प्रफोर्मा में आवेदन किया जा सकता है।

नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा विभाग के माध्यम से ऊर्जा का संरक्षण करने वालों, जिन्होंने नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा के संयंत्रों व उपकरणों को प्रोत्साहित करने के लिए तथा ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में नये-नये कार्य, खोज व तकनीक विकसित करने में सहयोग किया हो, को प्रतिवर्ष की भांति इस साल भी नकद पुरस्कार, प्रशंसा-पत्र व शील्ड देकर सम्मानित किया जाएगा। इन पुरस्कारों के लिए नामांकन करने की अंतिम तिथि 15 दिसंबर निर्धारित की गई है। इच्छुक संस्थान अक्षय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार के नामांकन निर्धारित प्रोफार्मा में 15 दिसंबर तक अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय में जमा करवा सकते हैं। निर्धारित पुरस्कार प्रफोर्मा विभाग की वेबसाइट से डाउनलोड करके इसके संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

-------------------------

ये मिलेगा पुरस्कार

योजना के तहत एक मेगावाट से अधिक लोड वाले बड़े उद्योगों को प्रथम पुरस्कार के रूप में तीन लाख रुपये व द्वितीय पुरस्कार के रूप में 2 लाख रुपये का पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। इसी प्रकार एक मेगावाट से कम लोड वाले छोटे उद्योगों को प्रथम पुरस्कार दो लाख रुपये तथा द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा। व्यावसायिक भवनों की श्रेणी में शापिग माल, प्लाजा, होटल, अस्पताल, कारपोरेट, रिसार्ट आदि जिनमें एलईईडी, ग्रीन बिल्डिग, गृहा रेटिड या ईसीबीसी अनुसार भवन बना हो तथा जिनका कुल लोड एक मेगावाट या अधिक हो, ऐसे उर्जा के लिए प्रथम पुरस्कार दो लाख रुपये तथा द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा। इसी श्रेणी के भवनों, जिनका लोड एक मेगावाट से कम हो, को प्रथम पुरस्कार एक लाख रुपये तथा द्वितीय पुरस्कार 50 हजार रुपये दिया जाएगा। पांच हजार वर्ग फुट क्षेत्र में बने तथा 500 किलोवाट से अधिक लोड वाले सरकारी भवनों की श्रेणी, जिनमें एलइइडी, ग्रीन बिल्डिग, गृहा रेटिड या ईसीबीसी अनुसार हों, को उर्जा संरक्षण के लिए प्रथम पुरस्कार दो लाख रुपये, तथा द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा। इसी श्रेणी के 500 किलोवाट से कम के भवनों को प्रथम पुरस्कार एक लाख रुपये व द्वितीय पुरस्कार 50 हजार रुपये दिया जाएगा।

विश्व विद्यालय व स्कूल संचालक भी कर सकते है आवेदन

संस्थागत, संगठन व रिहायशी भवनों की श्रेणी में, 30 किलोवाट से अधिक लोड वाले निजी स्कूल, महाविद्यालय, शिक्षण विश्वविद्यालय, सरकारी सहायता प्राप्त स्कूल, महाविद्यालय, विश्वविद्यालय एवं संगठन को प्रथम पुरस्कार दो लाख रुपये व द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा। इसी क्रम में 50 किलोवाट से अधिक लोडधारक आवासीय भवन या सोसायटी को 50 हजार रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। नवोत्थान, नई तकनीक, नवोत्थान प्रचार के साथ आरएंडडी परियोजनाएं, उर्जा संरक्षण में अनुसंधान एवं नवाचार, उर्जा दक्षता, उपशिष्ट उर्जा एवं उर्जा नवीकरणीय उर्जा क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगों, संस्थाओं को प्रथम पुरस्कार दो लाख रुपये व द्वितीय पुरस्कार एक लाख रुपये दिया जाएगा।

-----------------------------------

ऊर्जा संरक्षण करने वाले सरकारी व गैर सरकारी भवन मालिकों को पुरस्कार दिया जाएगा। इसके लिए विभागों के अधिकारियों को आनलाइन आवेदन किया जाएगा। इसके लिए सरकारी विभाग व प्राइवेट दोनों ही भाग ले सकते है। 15 दिसंबर तक आवेदन करना होगा।

अजय चोपड़ा, अतिरिक्त उपायुक्त एवं मुख्य परियोजना अधिकारी।

Edited By: Jagran