जाखल, टोहाना व फतेहाबाद जागरण टीम: रविवार को भी जिले कुछ हिस्सों में तेज तो कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी रही। सावन महीने के आखिरे दिन जिले में कुछ जगह पर झमाझम बरसात हुई है। लेकिन फतेहाबाद, रतिया ख भूना खंड में नामात्र बरसात हुई है। कुछ गांवों में यहां पर भी अच्छी बरसात हुई है। गांव बड़ोपल आदि में बरसात अच्छी हुई है। लेकिन सबसे अधिक बरसात जाखल में देखने को मिली। दोपहर बाद 112 एमएम बरसात हुई है जो रिकार्ड है। अगस्त महीने में अब तक सबसे अधिक बरसात हुई है। वहीं जिले में ओवरआल बरसात का जिक्र करे तो यह आंकड़ा 26 एमएम तक रहा है। मौसम विभाग की माने तो सोमवार को भी मौसम परिवर्तनशील रहेगा और अच्छी बरसात हो सकती है।

पिछले कई सालों का जिक्र करे तो इस बार जिले में अच्छी बरसात हुई है। लेकिन बरसात देरी से आई। इस कारण किसानों को भी नुकसान हुआ है। जिले में जुलाई के अंतिम सप्ताह में तो इतनी अधिक बरसात हुई थी तो पिछले 40 सालों का रिकार्ड ही तोड़ दिया था। अगस्त महीने में जिले में अभी तक अच्छी बरसात नहीं हुई है। रविवार केा अधिकतम तापमान 30 डिग्री व न्यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। मौसम विशेषज्ञों की माने तो सोमवार दोपहर बाद मौसम साफ हो जाएगा। जुलाई-अगस्त में हुई अधिक बरसात

जिले में 20 जुलाई के आसपास अच्छी बरसात हुई थी। सात दिनों तक बरसात होने के कारण अनेक जगह जलभराव होने के साथ फसलों को नुकसान हुआ था। लेकिन अगस्त महीना शुरू होते ही बरसात नहीं हो रही है। जुलाई-अगस्त महीने में इतनी अधिक बरसात हुई कि पूरा रिकार्ड ही टूट गया। फतेहाबाद में एक दिन में 140 एमएम बरसात होने का रिकार्ड भी इस बार बना था। फतेहाबाद से रविवार को हुई बरसात का आंकड़ा

जिले में ओवरआल हुई बरसात : 26

जाखल : 112

कुलां : 29

भट्टूकलां : 2

टोहाना : 12

फतेहाबाद : 1

भूना : 1

रतिया : 1

नोट : यह बरसात एमएम में है। अब आंकड़ों में जाने पिछले तीन सालों में बरसात हुई

महीना 2018 2019 2020

जनवरी 15 11 18

फरवरी 16 00 17

मार्च 16 00 20

अप्रैल 19 04 12

मई 22 21 18

जून 43 128 130

जुलाई 20 213 520

अगस्त 25 120 50

यह बरसात एमएम में है। जाखल में जगह-जगह भरा पानी, वाहन चालक हुए परेशान

रविवा दोपहर को हुई झमाझम बरसात से जगह जगह पानी भर गया। जाखल जंक्शन का रेलवे परिसर व स्टेशन की मैन लाइन व मंडी और वार्ड नंबर 8, 9, 10, व अन्य कई स्थानों पर भारी जलभराव हो गया। जिसके कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। वही भारी बरसात के कारण लोगों के घरों में भी पानी घुस गया जिसके कारण लोगों ने जल निकासी की व्यवस्था पर भी सवाल उठाए। शनिवार को भी जाखल में 24 एमएम बरसात हुई थी। ऐसे में पिछले दो दिनों से यहां पर अच्छी बरसात हो रही है। टोहाना में रुक-रुककर हुई बरसात से शहर हुआ जलथल

टोहाना रविवार को अलसुबह रुक रुककर हुई बरसात ने टोहाना शहर की सड़कों को चारों ओर से जलथल कर दिया, जिसके चलते यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुआ। वही तंग बाजारों से वाहनों के आवागमन होने से जाम की स्थिति बनी रही। बरसाती पानी शहर के मुख्य मार्गो हिसार रोड, रतिया रोड, चंडीगढ़ रोड, जमालपुर रोड, भूना रोड, रेलवे रोड, कैंची चौक, मिलन चौक, रामनगर, पुरानी सब्जी मंडी, दमकौरा रोड, नई अनाज मंडी सहित कई क्षेत्रों में भरने से आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। वहीं सीवरेज प्रणाली भी ठप्प होने से सीवरेज का पानी भी आवरफ्लों होकर सड़कों पर फैला रहा। जिसके कारण कई क्षेत्रों में वातावरण दूषित हो गया। इसके अलावा बरसाती पानी से बस स्टैंड, नई सब्जी मंडी, नागरिक अस्पताल आदि में जलभराव होने के कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। हालांकि दोपहर बाद बरसात थमने से कई क्षेत्रों से बरसाती पानी निकल गया, जबकि कई क्षेत्रों में सांय तक भी बरसाती पानी जमा रहने से लोगों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। पिछले दो दिनों से मौसम परिवर्तनशील है। प्रदेश में कहीं तेज तो कहीं मध्यम बरसात हो रही है। 23 अगस्त तक मौसम ऐसा ही रहेगा और उसके बाद मौसम साफ हो जाएगा। आगामी दिनों में बरसात की संभावना फिलहाल कम लग रही है।

डा. मदन खिचड़, वरिष्ठ वैज्ञानिक मौसम विभाग हिसार।

Edited By: Jagran